गोंडा में राम जानकी मंदिर के महंत को मारी गोली, हालत गंभीर, मचा हड़कंप

गोंडा। जनपद के इटियाथोक थाना क्षेत्र के तिर्रेमनोरमा स्थित राम जानकी मंदिर के महंत को शनिवार की रात सोते समय गोली मार दी गयी। गोली मारने के बाद हमलावर फरार हो गए। गंभीर हालत मे महंत को जिला अस्पताल लाया गया, जहां उनकी गंभीर हालत को देखते हुए लखनऊ के लिए रेफर कर दिया गया है।

मंदिर के महंत पर जानलेवा हमले की खबर से जिले मे हड़कंप मच गया है। वारदात की सूचना मिलते ही पुलिस के आला अफसर मौके पर पहुंच गए हैं और वारदात की छानबीन की जा रही है। गांव में ऐहतियात के तौर पर पुलिस बल तैनात किया गया है और सतर्कता बरती जा रही है।

इटियाथोक थाना क्षेत्र के तिर्रेमनोरमा गांव में महर्षि उद्दालक का आश्रम है। इसी आश्रम में रामजानकी का प्राचीन मंदिर बना हुआ है। बाबा सम्राट दास यहां के महंत हैं। शनिवार की रात जब वह मंदिर परिसर मे सो रहे थे तो अज्ञात हमलावरों ने उन पर जानलेवा हमला कर दिया। महंत सम्राट दास को बेहद नजदीक से गोली मारी गई है। गोली उनके कंधे पर लगी है।

गोली चलने की आवाज सुनकर जब आसपास के लोग जगे तब तक हमलावर वारदात को अंजाम देकर फरार हो गए। आनन फानन में महंत को जिला अस्पताल लाया गया जहां उनकी गंभीर हालत को देखते हुए डाक्टरों ने उन्हें लखनऊ के लिए रेफर कर दिया। महंत पर हुए जानलेवा हमले से इलाके में हड़कंप मच गया है। जिले के वरिष्ठ पुलिस अफसर घटनास्थल पर पहुंच गए और वारदात की छानबीन की जा रही है।

पुलिस अधीक्षक शैलेश कुमार पांडेय के मुताबिक़ मामला जमीन से जुड़ा बताया जा रहा है। पुलिस ने महंत की तहरीर पर गांव के ही चार लोगों के खिलाफ जानलेवा हमले का केस दर्ज कर लिया है। उन्होंने बताया कि नामजद किए गए दो आरोपी पुलिस हिरासत में है और उनसे पूछताछ की जा रही है। गांव में ऐहतियात के तौर पर पुलिस बल तैनात किया गया है और सतर्कता बरती जा रही है।

मंदिर की बेशकीमती जमीन पर है भू माफियाओं की नजर

राम जानकी मंदिर के नाम से गांव में काफी जमीन है, जिसकी कीमत करोड़ों रुपये में है। इसी बेशकीमती जमीन पर भू माफियाओं की काफी दिनों से नजर है। बताया जा रहा है कि कई बार भू माफियाओं ने उस जमीन पर कब्जा करने का प्रयास किया, लेकिन महंत सम्राट दास उसमें रोड़ा बने हैं। महंत पर हुए जानलेवा हमले को इसी जमीन से जोड़कर देखा जा रहा है। वहीं महंत की सुरक्षा के लिए पुलिस ने दो होमगार्ड भी तैनात कर रखे थे। वारदात के समय यह दोनों होमगार्ड कहां थे, इस पर भी पुलिस की नजर है।  फिलहाल पुलिस अन्य कई पहलुओं पर भी जांच कर रही है।

इटियाथोक थाना क्षेत्र का तिर्रेमनोरमा गांव महर्षि उद्दालक का आश्रम है। यहीं से प्रसिद्ध मनोरमा नदी का उद्गम हुआ है। इसी उद्गम स्थल पर प्राचीन रामजानकी मंदिर बना है। यह प्राचीन मंदिर यहां के लाखों लोगों के आस्था का केंद्र है। बाबा सम्राट दास इसी मंदिर के महंत है। महंत पर हुए इस जानलेवा हमले से पूरे इलाके में सनसनी है।

 

Related Articles

Back to top button
E-Paper