महाराष्ट्र : धार्मिक स्थलों के मुद्दे पर राज्यपाल और मुख्यमंत्री आमने-सामने

मुंबई। धार्मिक स्थलों को खोलने को लेकर महाराष्ट्र में सियासत सरगर्म है। इस मामले में राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी द्वारा मुख्यमंत्री उद्धव सिंह ठाकरे को पत्र लिखे जाने के बाद इस मामले ने तूल पकड़ लिया है। बात धर्मनिरपेक्षता और हिंदुत्व तक पहुंच गई है।

दरअसल महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने सोमवार को मुख्यमंत्री उद्धव सिंह ठाकरे को पत्र लिखा है। इस पत्र में श्री कोश्यारी ने मुख्यमंत्री ठाकरे पर तंज कसा है, जिसपर विवाद शुरू हो गया है। राज्यपाल ने अपने पत्र में मुख्यमंत्री के हिंदुत्व पर सवाल उठाते हुए पूछा है कि ‘क्या आप अचानक से सेक्युलर हो गए?’

राजयपाल ने लिखा, ‘दिल्ली में 8 जून से और कुछ दूसरे शहरों जून के आखिर से ही धार्मिक स्थल खुल गए हैं और वहां पर कोविड के मामलों में बढ़ोतरी नहीं देखी गई है। यह विडंबना है कि सरकार ने बार, रेस्टोरेंट और बीच वगैरह को खोलने की अनुमति दे दी है लेकिन दूसरी ओर हमारे देवी-देवताओं को लॉकडाउन में रखा गया है’।

मुख्यमंत्री कार्यालय की तरफ से इस पत्र का जवाब भी भेजा गया है। पत्र में सीएम ठाकरे ने लिखा है, ‘पत्र में मेरे हिंदुत्व का उल्लेख करना गलत है. हिंदुत्व के लिए मुझे आपके सर्टिफिकेट की जरूरत नहीं है’। सीएम ने आगे लिखा, ‘ मेरे राज्य की राजधानी को पाक अधिकृत कश्मीर कहने वालों को हंसते हुए घर में स्वागत करना मेरे हिंदुत्व में नही बैठता है’।

उल्लेखनीय है कि धार्मिक स्थलों को खोलने को लेकर महाराष्ट्र में भाजपा आंदोलित है। मंगलवार को भाजपा कार्यकर्ताओं ने सिद्धिविनायक मंदिर समेत अन्य मंदिरों को खोलने की मांग को लेकर प्रदर्शन किया है। कई भाजपा कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी की भी खबरें आ रही हैं।

Related Articles

Back to top button
E-Paper