लखीमपुर केस : क्राइम ब्रांच के सामने आया आशीष मिश्रा, जानिए किन धाराओं में दर्ज है एफआईआर

अंकित दास की तलाश में भी छापेमारी, सिद्धू का अनशन समाप्त

लखनऊ (विश्ववार्ता ब्यूरो)। गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे आशीष मिश्रा क्राइम ब्रांच के सामने आ गया है। इस खबर के साथ ही पंजाब कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने अपनी भूख हड़ताल खत्म कर दी। उत्तर प्रदेश के लखीमपुर मामले के मुख्य अभिुयक्त बनाये गये केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री के बेटे आशीष मिश्रा शनिवार की सुबह यूपी पुलिस क्राइम ब्रांच के सामने आ गये। क्राइम ब्रांच ने उससे एक घंअे से पूछताछ कर रही है। आशीष मिश्रा अपने साथ लगभग एक दर्जन से ज्यादा पेन ड्राइव लेकर पहुंचे हैं। आशीष क्राइम ब्रांच के दफ्तर में अपने घटनास्थल पर न होने के बावत तमाम सबूतों को पेन ड्रइव में रखे वीडियोज से दिखाना चाहते हैं।

लखीमपुर

इस बीच पूर्व केन्द्रीय मंत्री और लखनऊ के पूर्व मेयर स्व. डॉ. अखिलेश दास के भतीजे अंकित दास के तलाश में भी छापामारी की गई है। सूत्रों के मुताबिक इस घटना में एक गाड़ी अंकित की भी शामिल थी। उधर, लखीमपुर में केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी के ऑफिस के बाहर उनके समर्थकों का हंगामा चल रहा है।

Also Read : समाजवादी पार्टी ने मृतक व्यापारी परिवार को दी तीस लाख रूपये की आर्थिक मदद

आशीष मिश्रा पर इन धाराओं में दर्ज है केस

  • धारा 302 (हत्या)
  • धारा 120 बी (आपराधिक साजिश रचना)
  • धारा 304 (लापरवाही से हत्या)
  • धारा 147, 148, 149. (दंगों से संबंधित)
  • धारा 279 (लापरवाही से गाड़ी चलाना)
  • धारा 338 (किसी व्यक्ति को ऐसी चोट मारना जिससे उसकी जान को खतरा हो)

मालूम कि, इससे पहले कल तक प्रदेश की पुलिस ने दो नोटिसें घर पर चस्पा करके लखीमपुर कांड के मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा को हाजिर हो जाने की चेतावनी दी थी। आशीष मिश्रा केन्द्रीय गृहराज्य मंत्री का पुत्र है। इसी आशीश पर आरोप है कि उसने बीते दिनों लखीमपुर में किसानों के ऊपर असपा वाहन चढ़ाकर चार किसानों की जान ले ली।

Related Articles

Back to top button
E-Paper