बम हमले में घायल मंत्री को देखने पहुंची ममता, साजिशन हत्या की कोशिश का लगाया आरोप

कोलकाता मुख्यमंत्री ममता बनर्जी बम हमले में घायल श्रम राज्यमंत्री जाकिर हुसैन को देखने गुरुवार सुबह एसएसकेएम अस्पताल पहुंची। उन्होंने डॉक्टरों से मिलकर जाकिर की सेहत के बारे में जानकारी ली। उसके बाद बाहर निकल कर सीएम ने मीडिया से बातचीत में कहा कि जाकिर हुसैन काफी जनप्रिय नेता हैं और साजिश के तहत उन्हें जान से मारने की कोशिश की गई।

ममता बनर्जी

मुर्शिदाबाद के निमतीता रेलवे स्टेशन पर बुधवार रात देसी बमों से हुए हमले में हुसैन सहित उनके परिवार के कुछ सदस्य तथा समर्थकों सहित 26 लोगों घायल हुए हैं। किसी का हाथ उड़ गया है तो किसी का पैर। ममता सरकार ने घटना की जांच राज्य सीआईडी, स्पेशल टास्क फोर्स और सीआईएफ को सौंपी है।

दिशा रवि की दिल्ली हाईकोर्ट से गुहार, जांच के तथ्य मीडिया में लीक करने से पुलिस को रोका जाए

इस संबंध में ममता बनर्जी ने कहा कि जब हमले हुए तब स्टेशन पर रेल पुलिस नहीं थी। उन्होंने यह भी दावा किया कि राज्य सरकार को हमले के बारे में रेलवे की ओर से कोई सूचना नहीं दी गई। सीएम ने रेलवे पर जांच में भी सहयोग नहीं करने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि स्टेशन पर सुरक्षा की जिम्मेवारी रेलवे की है और वे इससे नहीं बच सकते हैं।

इशारे इशारे में उन्होंने योजनाबद्ध तरीके से हमले का जिक्र करते हुए कहा कि चुनाव है और जो लोग राजनीतिक तौर पर लड़ाई नहीं लड़ सकते वे हमले कर रहे हैं। हालांकि मंत्री द्वारा मवेशी तस्करों के खिलाफ दर्ज कराई गई शिकायत और उसी के चलते हमले के संदेह को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब को ममता टाल गई। उन्होंने कहा कि सीआईडी एसटीएफ और सीआईएफ जांच कर रही है। जांच के बाद ही पता चल सकेगा कि इसमें कौन शामिल है और क्यों हमला हुआ।

Related Articles

Back to top button
E-Paper