भाजपा के बांग्ला प्रेम पर ममता का तंज, कहा- भाड़े पर सीख रहे हैं भाषा

ममता बनर्जी

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोमवार को केंद्र की भाजपा सरकार पर तीखा प्रहार किया है। कोतुलपुर में जनसभा में ममता ने भारतीय जनता पार्टी के बांग्ला भाषा के प्रति उमड़ रहे प्रेम को लेकर तंज कसा।

बांकुड़ा के कोतुलपुर में सभा में ममता बनर्जी ने कहा कि भाजपा के बड़े नेता भाड़े पर बांग्ला सीख रहे हैं। उन्होंने कहा कि गद्दार अब भाजपा के उस्ताद हो गए हैं, वह बिना राजनीतिक लड़ाई किए एक इंच भी जमीन नहीं छोडूंगी। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार सरकारी उपक्रमों का निजीकरण कर रही है। उन्होंने सवाल किया कि भाजपा ने लोकसभा चुनाव के पहले 15 लाख रुपये देने का वादा किया था, क्या भाजपा ने दिया है? उन्होंने कहा कि कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीएम) और कांग्रेस ने भाजपा के साथ डील की है और भाजपा नेता बाहर से गुंडा लाकर वोट करना चाहते हैं।

उन्होंने कहा कि विपक्षियों ने सोचा होगा कि मेरे पांव चोट है, मैं बैठ जाऊंगी और वे बंगाल में दखल करेंगे, लेकिन जब-तक सांस और विश्वास रहेगा। मैं भाजपा को चुनाव नहीं जीतने दूंगी। यह अस्तित्व रक्षा की लड़ाई है, मैं एक पांव चोट के बावजूद घूम रही हूं। एक पांव से शॉट मार भाजपा को मैदान से बाहर कर दूंगी।

उन्होंने कहा कि बोल रहे हैं कि धमाका होगा, दंगा होगा, इतिहास बदला जा रहा है, भूगोल बदला जा रहा है। बोल रहे हैं कि हम सभी चोर है, वो सभी साधु है, मैं न तो पेंशन लेती हूं और न ही वेतन। उन्होंने सवाल किया कि महाराज साधु बताएं कि प्रधानमंत्री केयर फंड का पैसा कहां गया?  रेल बिक्री, कोयला बिक्री का पैसा कहां गया।

ममता बनर्जी ने कहा कि यह चुनाव बंगाल का चुनाव है, दिल्ली का चुनाव नहीं है। भाजपा झूठा वादा करती है। चुनाव के पहले सब कुछ देने का वादा भाजपा करती है, लेकिन बाद में केवल डुगडुगी बजाती है और कुछ भी नहीं देती है। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार खाद्य साथी योजना के तहत बिना पैसा राशन पहुंचाएगी। राज्य के लोगों को मुफ्त राशन सरकार देती है। इशारे-इशारे में जितेंद्र तिवारी पर हमला बोलते हुए ममता बनर्जी ने कहा कि यहां से भाजपा का उम्मीदवार वह माफिया है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper