मथुरा कोर्ट में पीएफआई सदस्यों के खिलाफ पांच हजार पन्नों की चार्जशीट दाखिल

मथुरा। हाथरस कांड के दौरान सांप्रदायिक हिंसा फैलाने के मामले में मथुरा जिला कारागार में बंद पांच पीएफआई सदस्यों को शनिवार को एडीजे प्रथम कोर्ट में पेश किया गया। लखनऊ जिला कारागार में बंद दो सदस्यों की पेशी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से हुई। कोर्ट में एसटीएफ के अधिकारियों ने आठों आरोपियों के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल किए। अगली सुनवाई 1 मई को होगी।

जिला शासकीय अधिवक्ता शिवराम सिंह तरकर ने बताया कि पांचों आरोपितों को आज मथुरा जेल से लाकर एडीजे प्रथम कोर्ट में पेश किया गया। लखनऊ जिला कारागार में बंद दो सदस्यों की पेशी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से हुई, जबकि एक की गिरफ्तारी अभी तक नहीं हो पाई है। एसटीएफ के अधिकारियों ने आठों आरोपियों के खिलाफ पांच हजार पन्नों की चार्जशीट दाखिल की गई है। मामले की अगली सुनवाई एक मई को होगी।

गौरतलब हो कि पीएफआई के चार सदस्यों को मथुरा पुलिस ने पांच अक्टूबर, 2020 को यमुना एक्सप्रेस-वे के पास से पकड़ा था। पीएफआई की स्टूडेंट विंग कैंपस फ्रंट आफ इंडिया के राष्ट्रीय महासचिव केए राउफ शरीफ को पुलिस ने 12 फरवरी को केरल से गिरफ्तार किया था। एसटीएफ ने इस मामले में 54 लोगों को गवाह के रूप में पेश किया है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper