लॉकडॉउन में भी एनटीपीसी सिंगरौली में हुआ अधिकतम विजली उत्पादन

सोनभद्र। एनटीपीसी सिंगरौली कोविड-19 लॉकडाउन के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग, मैन पावर और अन्य चुनौतियों के बीच चौबीसों घंटे निर्बाध बिजली आपूर्ति बनाए रखा। यहां की 40 साल पुरानी यूनिटों द्वारा अधिकतम पीएलएफ पर विद्युत उत्पादन किया गया। जून तिमाही के लिए सीईए रेटिंग में यूनिट नंबर 1,2, 4 को प्रथम स्थान भी मिला है।

सिंगरौली एमडीआर प्लांट अपने आसपास रहने वाले जन समुदाय के साथ खड़ा रहा और हर संभव उनकी सहायता करता रहा। यहां का संजीवनी चिकित्सालय लोगों की सेवा में हमेशा की तरह कोविड-19 के दौरान भी तत्पर रहा आपातकालीन सेवाएं चौबीसों घंटे संचालित रही । लोगों की सहायता के लिए अनाज वितरण के कई खेप चलाए गए और कम्युनिटी किचन के संचालन में यथासंभव सहयोग किया गया ।
इसके लिए एनटीपीसी कर्मचारियों द्वारा मिशन शक्ति अभियान चलाया गया, जिसमें कर्मचारियों ने अपने वेतन में से पैसे इकट्ठा करके लोगों के लिए अनाज पहुंचाने का प्रयास किया।

एनटीपीसी के महिलाओं की संस्था वनिता समाज द्वारा संविदा श्रमिकों एवं अन्य श्रमिक बंधुओं के लिए अनाज, नोज मास्क, साबुन, सैनिटाइजर आदि उपयोगी सामान वितरित किए गए। जिला प्रशासन के सुझाव पर जिले के दूरवर्ती क्षेत्रों में भी अनाज वितरण, नोज मास्क, सैनिटाइजर बांटा गया। इसके लिए लगभग बीस -बीस लाख रुपए का अनाज दो खेप में जिला प्रशासन के माध्यम से बटवाया गया। जन सामान्य की बैंकिंग सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए परिसर के बाहर ग्राहक सेवा केंद्र संचालित कराए गए।

हाल में ही एनटीपीसी सिंगरौली कोविड-19 से बचाव हेतु आवश्यक पीपी किट आदि की खरीद हेतु 10 लाख की नगद सहायता राशि भी प्रदान की गई। एनटीपीसी सिंगरौली के वर्तमान में यहां पर 200 मेगावाट की 5 इकाइयां एवं 500 मेगावाट की दो इकाइयां कार्यरत हैं। यह एनटीपीसी लिमिटेड की मदर प्लांट एवं फ्लैगशिप स्टेशन है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper