पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर मायावती ने सरकार पर कसा तंज, कही ये बात

मायावती

बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने रविवार को पेट्रोल, डीज़ल और रसोई गैस की बढ़ती क़ीमतों को लेकर केंद्र सरकार पर तंज कसा है। उन्होंने चिंता व्यक्त करते हुए सरकार से इसका हल निकालने की मांग़ की है।

बहराइच पुलिस के हत्थे चढ़ा मादक द्रव्यों का सरगना, 6.5 करोड़ की नेपाली चरस के साथ गिरफ्तार

बसपा सुप्रीमों मायावती ने रविवार को कहा कि देश में पेट्रोल, डीजल, रसोई गैस जैसी जरूरी वस्तुओं की कीमत पर से सरकारी नियंत्रण हटने के बाद इनके दाम बेलगाम होकर जिस प्रकार से तेजी से अनवरत बढ़ रहे हैं उससे हर जगह हाहाकार मचा हुआ है। मायावती ने कहा कि इस मूल्य वृद्धि से जनता का जीवन अति-दुःखी व त्रस्त है। स्थिति की गंभीरता का संज्ञान लेकर सरकार इसका हल निकाले।

उन्होंने कहा कि साथ ही केन्द्र व राज्य सरकारें खासकर पेट्रोल व डीजल पर अतिरिक्त करों की जो मनमानी वृद्धि कर रही हैं उससे ही इनकी कीमतें आसमान छू रही हैं व करोड़ों गरीब व बेरोजगार जनता पर इसका सीधा बोझ आए दिन बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि क्या संविधान ने ऐसी ही ‘कल्याणकारी सरकार’ का सिद्धान्त सुनिश्चित किया है?

इससे पहले कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव व उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका वाड्रा ने भी शनिवार को इस मूल्य वृद्धि को लेकर सरकार को घेरा। उन्होंने तंज कसते हुए ट्वीट किया कि भाजपा सरकार को सप्ताह के उस दिन का नाम ‘अच्छा दिन’ कर देना चाहिए जिस दिन डीजल-पेट्रोल के दामों में बढ़ोत्तरी न हो। क्योंकि महंगाई की मार के चलते बाकी दिन तो आमजनों के लिए ‘महंगे दिन’ हैं। दरअसल पेट्रोल, डीजल की लगातार बढ़ती कीमतें आम जनता की मुश्किलों का सबब बनी हुई है। विपक्षी दल इसे लेकर सरकार पर लगातार हमलावर बने हुए हैं।

Related Articles

Back to top button
E-Paper