मेरठ में मोदी ने खोली विपक्ष के खेल की पोल

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश में खेल प्रतिभाओं को बढ़ावा देने के मामले में पिछली सरकारों पर लचर रवैया अपनाने का आरोप लगाते हुये रविवार को कहा कि पिछली सरकारों में खेल के नाम पर कोई दूसरे ‘खेल ही होते थे।

मोदी ने उत्तर प्रदेश के मेरठ में मेजर ध्यानचंद खेल विश्वविद्यालय के शिलान्यास समारोह में विरोधी दलों पर तंज कसते हुये कहा कि पहले अपराधी और माफिया अपना अलग ही ‘खेल खेलते थे। उन्होंने कहा, “पहले की सरकारों में उत्तर प्रदेश में अपराधी अपना ‘खेल खेलते थे, माफिया अपना ‘खेल खेलते थे। पहले यहां अवैध कब्जों के ‘टूर्नामेंट होते थे, बेटियों पर फब्तियां कसने वाले खुलेआम घूमते थे।”

प्रधानमंत्री ने कहा कि अब योगी सरकार ऐसे अपराधियों के साथ ‘जेल-जेल खेल रही है। अब उत्तर प्रदेश में असली खेल को बढ़ावा मिल रहा है। परिणामस्वरूप उत्तर प्रदेश के युवाओं को खेल की दुनिया में छा जाने का मौका मिल रहा है।

उन्होंने कहा कि पांच साल पहले इसी मेरठ की बेटियां शाम होने के बाद अपने घर से निकलने से डरती थीं। आज मेरठ की बेटियां पूरे देश का नाम रौशन कर रही हैं।

इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने पश्चिमी उत्तर प्रदेश में गन्ना किसानों की समस्याओं के लिये भी पुरानी सरकारों को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा, “जो पहले सत्ता में थे, उन्होंने आपको गन्ने का मूल्य किस्तों में तरसा-तरसा कर दिया, पहले की सरकारों में चीनी मिलें कौड़ियों के दाम पर बेची जाती थी। मगर अब योगी राज में चीनी मिलों का निर्माण हुआ रहा है।”

Related Articles

Back to top button
E-Paper