संवैधानिक संस्थाओं पर चोट पहुंचा रही है मोदी सरकार : कांग्रेस

नयी दिल्ली. संविधान दिवस पर आयोजित सरकारी कार्यक्रम में हिस्सा नहीं लेने पर कांग्रेस ने शुक्रवार को कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सरकार निरंतर संवैधानिक संस्थाओं पर चोट पहुंचा रही है, संविधान में प्रदत नियमों का उल्लंघन कर संवैधानिक व्यवस्था को ध्वस्त किया जा रहा है इसलिए कांग्रेस तथा अन्य कई विपक्षी दलों ने इस कार्यक्रम में हिस्सा नहीं लिया। 

कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने शुक्रवार को यहां पार्टी मुख्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा कि सरकारी कार्यक्रमों में विपक्ष को महत्व नहीं मिलता और उन्हें नजरअंदाज किया जाता है। संसद सत्र के कुछ दिन पहले अध्यादेश लाकर कानून बनाया जा रहा है जबकि ऐसा नहीं होना चाहिए लेकिन यह सरकार लगातार संसदीय परंपरा को नुकसान पहुंचा रही है और संसदीय व्यवस्था को अहमियत नहीं दी जा रही है।

उन्होंने कहा कि विपक्षी दलों की सहमति के बिना सरकार कानून बना रही है। कानून की रूपरेखा बनाने की प्रक्रिया में विपक्ष की भूमिका को नजरअंदाज किया जा रहा है इसलिए सरकार को सदन में पारित कानून वापस लेने को मजबूर होना पड़ रहा है। कृषि कानून बने एक साल से ज्यादा समय हो गया और इसको लेकर एक साल तक किसानों ने आंदोलन किया और सरकार को कानून वापस लेना पडा है।

कांग्रेस नेता ने कहा कि सदन से पहले सरकार हमेशा ऐसा काम करती है जिससे तनाव की स्थिति बनती है और सरकार को फिर अपने कदम पीछे खींचने पड़ते हैं। ऐसा सरकार की नीतियों के कारण होता है इसलिए उसे अपने व्यवहार में बदलाव लाना चाहिए और सबको साथ लेकर चलना चाहिए।

Related Articles

Back to top button
E-Paper