कोलकाता में प्रदूषण कम करने के चलेंगे और अधिक ट्राम, बिछाई जाएंगी लाइनें

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में प्रदूषण कम करने के उद्देश्य से राज्य परिवहन विभाग और अधिक संख्या में ट्राम का संचालन करेगा।

कोलकाता

परिवहन विभाग के सूत्रों के अनुसार, कोलकाता में यात्रियों की जरूरतों को पूरा करने और ग्रीन हाउस गैस उत्सर्जन को कम करने के लिए अधिक ट्राम लाइन बिछाई जाएंगी। चक्रवात अम्फन के दौरान पेड़ों के गिरने से बहुत सारे ट्राम मार्ग और ओवरहेड वायर सिस्टम क्षतिग्रस्त हो गए थे। बंगाल परिवहन निगम (डब्ल्यूबीटीसी) के इंजीनियरों ने ट्राम की पटरियों को बहाल करने के लिए दिन-रात काम किया है। अब तक छह ट्राम मार्गों में से चार को बहाल कर दिया गया है और पांचवें को अगले सप्ताह फिर से शुरू करने की योजना है।

डब्ल्यूबीटीसी पहले से ही कोलकाता में 80 ट्राम ला रहा है और वर्ष के अंत तक 50 ट्राम और चलायी जाएंगी। डब्ल्यूबीटीसी ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन और डीजल से चलने वाले वाहनों से होने वाले प्रदूषण को कम करने के लिए अधिक ट्राम मार्ग बनाने पर जोर दे रहा है। कॉलेज स्ट्रीट-वेलिंगटन खंड में कुछ मामूली मरम्मत कार्य पूरा होने के बाद अगले सप्ताह से एस्प्लेनेड और श्यामबाजार के बीच पांचवां ट्राम मार्ग शुरू होने की संभावना है।

डब्ल्यूबीटीसी ने पहले ही चार मार्गों टॉलीगंज-बालीगंज, राजाबाजार-हावड़ा ब्रिज, गरियाहाट-एस्प्लेनेड और हावड़ा-श्यामबाजार को बहाल कर दिया है। अब और अधिक मार्ग निर्धारित किए जाएंगे ताकि यात्रियों को सुविधा मिल सके।

Related Articles

Back to top button
E-Paper