म्यूकोरमाइकोसिस के इलाज को आयुष्मान योजना के दायरे में लाया जाए : प्रियंका गांधी

देश भर में म्यूकोरमाइकोसिस (ब्लैक फंगस) के मामले बढ़ रहे हैं। इसके साथ इसके इलाज में काम आने वाले एम्फोटेरिसिन-बी इंजेक्शन की कमी लगातार बनी हुई है। इसे देखते हुए कांग्रेस महासचिव श्रीमती प्रियंका गांधी ने प्रधानमंत्री से ब्लैक फंगस के इलाज के लिए पर्याप्त मात्रा में निशुल्क इंजेक्शन उपलब्ध कराने की अपील की है। उन्होंने कहा कि देश भर से लोग म्यूकोरमाइकोसिस के इंजेक्शन के लिए गुहार लगा रहे हैं, इंदौर में एक बेटी का अपने पिता के लिए इंजेक्शन की गुहार लगाना और दिल्ली के आर्मी अस्पताल में इंजेक्शन की कमी ने पूरे देश को द्रवित कर दिया है।

कांग्रेस महासचिव ने कहा कि एक तरफ म्यूकोरमाइकोसिस के मरीजों की संख्या 11000 के ऊपर निकल चुकी है, वहीं इंजेक्शन की लगातार कमी बनी हुई है। गौरतलब है कि म्यूकोर माइकोसिस (ब्लैक फंगस) जैसी बीमारी में मृत्यु दर 50% होती है।

कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार ब्लैक फंगस के इलाज में मुस्तैदी नहीं दिखा रही है, वह इसके खतरे के प्रति गंभीर नहीं लग रही है। उन्होंने कहा कि म्यूकोरमाइकोसिस के इलाज में इस्तेमाल होने वाले इंजेक्शन पर लाखों रुपए का खर्च आ रहा है और म्यूकोरमाइकोसिस का इलाज आयुष्मान योजना में भी नहीं शामिल है। कांग्रेस महासचिव ने प्रधानमंत्री से म्यूकोरमाइकोसिस के इलाज को आयुष्मान योजना के दायरे में लाने व इंजेक्शन निशुल्क उपलब्ध कराए जाने की अपील की है।

प्रियंका गांधी ने कहा कि म्यूकोरमाइकोसिस को महामारी घोषित किया जा चुका है, लेकिन 25 मई के बाद से सरकार ने इसके आंकड़े जारी नहीं किए हैं। उन्होंने कहा कि जन जागरूकता के लिए जनता के बीच सही तथ्यों को रखा जाना जरूरी है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper