30 घंटे तक जिंदगी और मौत से जूझने के बाद मुंबई की निर्भया ने तोड़ा दम

30 घंटे तक जिंदगी और मौत से जूझने के बाद मुंबई की निर्भया ने तोड़ा दम

मुंबई। सेफ सिटी इंडेक्स (2021) में देश की दूसरी सबसे सुरक्षित मानी जाने वाली मुंबई में रेप के बाद मारपीट का शिकार हुई महिला की करीब 30 घंटे बाद हॉस्पिटल में मौत हो गई है। आरोपी ने रेप के बाद महिला के प्राइवेट पार्ट पर रॉड से गंभीर रूप से हमला किया था। पीड़ित महिला का मुंबई के राजावाड़ी हॉस्पिटल में इलाज चल रहा था। इस घटना का एक सीसीटीवी फुटेज भी सामने आया है, जिसके आधार पर आरोपी को पुलिस ने अरेस्ट कर लिया है।

मुंबई पुलिस ने आरोपी को कुछ देर पहले अदालत में पेश किया, जहां से अदालत ने उन्हें 10 दिन की पुलिस कस्टडी में भेजने का आदेश दिया है। इस पूरे मामले को लेकर सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा है कि हम इस मामले की सुनवाई ट्रैक में ले जाएंगे, ताकि जल्द से जल्द आरोपी को कड़ी सजा मिल सके।

सीसीटीवी फुटेज के मुताबिक, घटना गुरुवार रात 2.30 से 3 बजे के बीच हुई है। इसमें नजर आ रहा है कि आरोपी रेप के बाद महिला को रॉड से बुरी तरह से घायल करता है। फिर उसे अधमरी हालत में एक पिकअप वैन में फेक कर फरार हो जाता है। हालांकि, अंधेरी रात होने के कारण फुटेज बहुत साफ नहीं हैं, लेकिन आरोपी की हरकत साफ पता चल रही है। हालांकि, इसी फुटेज के आधार पर आरोपी मोहन चौहान (45) को गिरफ्तार किया गया।

मुंबई पुलिस के कमिश्नर हेमंत नागराले ने बताया कि इस मामले में 9-10 की रात 3.20 बजे एक चौकीदार द्वारा कंट्रोल रूम पर फोन करके बताया गया कि किसी ने एक महिला की बुरी तरह से पिटाई कर पिकअप वैन (टेम्पो) में फेक दिया गया है। इसके 10 मिनट बाद साकीनाका पुलिस स्टेशन की एक टीम मौके पहुंची और बिना एम्बुलेंस का इंतजार किए एक कांस्टेबल टेम्पो के लेकर राजावाड़ी हॉस्पिटल पहुंचा और महिला को एडमिट करवाया।

कमिश्नर हेमंत नागराले ने आगे बताया कि इलाज के दौरान महिला रिस्पांड कर रही थी। हालांकि, डॉक्टर्स ने उन्हें काफी प्रयास किया उन्हें बचाने का, लेकिन वे दुर्भाग्यवश से नहीं बच सकीं। हमने पहले इस मामले में हत्या के प्रयास और रेप का केस दर्ज किया था, लेकिन अब मामले में हत्या का केस दर्ज किया गया। इस मामले की जांच साकीनाका पुलिस स्टेशन की टीम और क्राइम ब्रांच की टीम को लगाया गया था। हमने CCTV फुटेज के आधार पर हमने जौनपुर के रहने वाले मोहन नाम के शख्स को गिरफ्तार किया है। आरोपी 21 सितंबर तक पुलिस कस्टडी में है। CM ने इस मामले में फ़ास्ट ट्रैक सुनवाई का आदेश दिया है। हम एक महीने में इस मामले की पूरी इन्वेस्टिगेशन कर लेंगे।

नागराले ने आगे बताया कि आरोपी जौनपुर का रहने वाला है। वह अपने भाई और बहन के साथ मुंबई के साकीनाका इलाके में ही रहता था। वह कभी ड्राइवर का काम करता था और कभी कचरा उठाने का काम करता था। फिलहाल वह कस्टडी में है और जांच के बाद यह क्लियर होगा कि उसने ऐसी वारदात को क्यों अंजाम दिया।

जांच में सामने आया है कि आरोपी को महिला सड़क किनारे टहलते हुए मिली थी। रेप के बाद वह महिला की हत्या करना चाहता था, इसलिए उसने प्राइवेट पार्ट पर रॉड से हमला किया। 15 मिनट बाद वहां से गुजरने वाले किसी व्यक्ति ने महिला को खून से लथपथ बेहोशी की स्थिति में देखा और साकीनाका पुलिस स्टेशन को फोन कर इसकी जानकारी दी है।

जांच में सामने आया है कि पीड़िता की 13 और 16 साल की दो बेटियां हैं और महिला ही अपने परिवार के पालन-पोषण के लिए प्राइवेट नौकरी करती थी। आरोपी के बारे में यह पता चला है कि वह नशे का आदी है और वारदात के दौरान भी वह नशे में धुत्त था।

Related Articles

Back to top button
E-Paper