अमेठी : पुरानी रंजिश के चलते युवक की हत्या, पत्नी व भाई गंभीर रूप से घायल

अमेठी

अमेठी। अमेठी के मुसाफिरखाना कोतवाली क्षेत्र के अढंनपुर गांव में रविवार की दोपहर लगभग 2 बजे आधा दर्जन से अधिक हमलावरों ने एक युवक की गोली मारकर हत्या कर दी। बीच-बचाव करने पहुंची पत्नी इंद्रावती व भाई को हमलावरों ने गंभीर रूप से घायल कर दिया। घायलों में से एक की हालत गंभीर है।

रविवार की दोपहर 2 बजे अमेठी में अढंनपुर निवासी सुरेंद्र पांडे उम्र 45 वर्ष पुत्र रामेश्वर घर के सामने अपनी कार साफ कर रहे थे। इसी बीच गांव का ही बाइक सवार युवक तेज रफ्तार में बाइक लेकर गुजर रहा था। जिस पर सुरेंद्र पांडे ने कहा कि धीमी गति से चलाओ यहां बच्चे हैं। यह बात बाइक सवार युवक को नागवार गुजरी।

इस शख्स ने बनाई लकड़ी की कार, देखकर आप भी जाएंगे चौंक

घर पहुंचकर परिवार के अन्य सदस्यों को इकट्ठा कर थोड़ी देर बाद आधा दर्जन से अधिक लोग लाठी डंडे व तमंचा लहराते हुए सुरेंद्र पांडे के दरवाजे पर पहुंचकर उन्हें लाठी-डंडों से लहूलुहान कर गोली मार दी। गोली चलने की आवाज सुन भाई पत्नी दौड़े तो हमलावरों ने सुरेंद्र की पत्नी इंद्रावती व भाई सत्येंद्र को घायल कर दिया। मासूम बच्चों अमन व आदर्श को भी मारपीट कर घायल कर दिया गया।

परिजनों व ग्रामीणों ने आनन-फानन में घायलों को स्थानीय समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया। जहां सुरेंद्र ने दम तोड़ दिया। घटना से अढंनपुर गांव में दहशत व्याप्त है। इस मामले में कोतवाली पुलिस कुछ लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। घायलों में सत्येंद्र की हालत गंभीर देख चिकित्सकों ने रेफर कर दिया। ग्रामीणों के मुताबिक घटना की वजह सिर्फ टोका टाकी नहीं बल्कि पूर्व में चल रहे जमीनी रंजिश भी है।

OMG! धरती पर ये कचरा फेंक रहे एलियंस, हार्वर्ड प्रोफेसर के दावे से दुनिया हैरान

घटनास्थल पर अमेठी जिले के उपजिलाधिकारी सुनील त्रिवेदी, सीओ मनोज यादव, कोतवाल परशुराम ओझा सहित अन्य अधिकारियों ने पहुंचकर प्रकरण की जानकारी हासिल की। इस संबंध में सीओ मनोज यादव ने बताया पीड़ित की तहरीर पर हत्या सहित अन्य धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कर आरोपियों की तलाश में पुलिस की टीम छापेमारी कर रही है।

पुलिस अधीक्षक दिनेश सिंह ने लिया घटना का जायजा

जिले की मुसाफिरखाना कोतवाली क्षेत्र के नारा अढनपुर गांव मे हुऐ विवाद मे एक की मौत के मामले में पुलिस अधीक्षक दिनेश सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक दयाराम राम सरोज ने घटनास्थल का जायजा लिया है। दोषियों के विरुद्ध कड़ी से कड़ी कार्रवाई किए जाने का पीड़ित परिवार को आश्वासन दिया। उन्होंने आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए मुसाफिरखाना कोतवाली पुलिस को निर्देश दिए हैं।

जमीन का विवाद भी रंजिश की एक वजह, आरोपी फरार

मृतक के भतीजे धीरेंद्र ने बताया कि आरोपियों ने पूर्व में उनकी जमीन कब्जा करके उस पर चार कमरे बना रखे हैं। इसके बाद भी उन्हें चैन नहीं आया और आज चाचा की जान ले ली। वहीं, मुसाफिरखाना सीएचसी के डॉक्टर केके वर्मा ने बताया कि सुरेंद्र को दो गोलियां लगी थीं। एक उसके बाईं तरफ और दूसरे उसके पैर में। वह मृत अवस्था में यहां लाया गया था। पुलिस मामले की जांच में जुटी है। फरार आरोपियों की तलाश में टीमें दबिश दे रही हैं।

Related Articles

Back to top button
E-Paper