महाराष्ट्र कांग्रेस के अध्यक्ष बने नाना पटोले, कल दिया था इस पद से इस्तीफा

नाना पटोले

महाराष्ट्र में भंडारा जिले से चार बार विधायक चुने जाने वाले नाना पटोले को महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस समिति का अध्यक्ष नियुक्त किया गया है। बता दें कि गुरुवार को नाना पटोले ने महाराष्ट्र विधानसभा स्पीकर पद से इस्तीफा दे दिया था। सीएम उद्धव ठाकरे और डिप्टी सीएम अजीत पवार से मुलाकात के बाद उन्होंने अपना इस्तीफा डिप्टी स्पीकर नरहरी जिरवाल को सौंपा था।

लखनऊ : लोकभवन के सामने एक पूरे परिवार ने किया आत्‍मदाह का प्रयास, न्याय न मिलने से आहत

उनके इस्तीफे के बाद विधानसभा स्पीकर पद के लिए महाविकास आघाडी (MVA) में खींचतान शुरू हो गई है। क्योंकि शरद पवार ने आजतक से बातचीत में कहा था, ‘2019 में ये पद कांग्रेस को देना तय हुआ था, लेकिन ये भी तय नहीं हुआ था कि स्पीकर एक साल के बाद इस्तीफा दे देंगे। ऐसे में अब चर्चा करनी पड़ेगी।’

वहीं, कांग्रेस को पता है कि बिना सहयोगियों से बात किए किसी नेता को स्पीकर पद पर नहीं बैठा सकती। हालांकि पार्टी का कहना है कि 2019 में तय फॉर्मूले के मुताबिक, भले नेता बदल जाए, लेकिन पद तो कांग्रेस के पास ही रहेगा।

केसी वेणुगोपाल के करीबी माने जाते हैं

दरअसल, महाराष्ट्र के विदर्भ से आने वाले नाना पटोले कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल के करीबी माने जाते हैं और पार्टी के एक आक्रमक नेता हैं। पटोले ने भले 2014 में बीजेपी के टिकट पर लोकसभा चुनाव जीता हो, लेकिन बाद मे नरेंद्र मोदी के नेतृत्व पर सवाल उठाकर बीजेपी और सांसद पद से इस्तीफा दिया और कांग्रेस में गए। इसलिए वह राहुल गांधी के भी चहेते हैं।

एनसीपी आलाकमान को डर है कि अब तक महाविकास आघाडी में जूनियर पार्टनर की भूमिका निभा रही कांग्रेस नाना पटोले के अध्यक्ष बनने के बाद आक्रमक रूप लेकर सरकार के लिए खतरा ना पैदा करे। विचारधारा को लेकर राहुल गांधी वैसे ही महाविकास आघाडी बनाने के पक्षधर नहीं थे। ऐसे में नाना पटोले के जरिए MVA की दिक्कतें बढ़ सकती हैं।

Related Articles

Back to top button
E-Paper