नसीमुद्दीन और राजभर को मिली जमानत, अभद्र टिप्पणी मामले में हुई थी जेल

जमानत

लखनऊ: भारतीय जनता पार्टी नेता के परिवार की महिलाओं पर अभद्र टिप्पणी करने के मामले में जेल भेजे गए कांग्रेस नेता और बहुजन समाज पार्टी के पूर्व राष्ट्रीय महासचिव नसीमुद्दीन सिद्दीकी और बसपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष रामअचल राजभर को अदालत से जमानत मिल गई है। 

भाजपा नेता के परिवार की महिलाओं पर अभद्र टिप्पणी का मामला
एमपी-एमएलए अदालत के विशेष न्यायाधीश पवन कुमार राय ने बुधवार को दोनों नेताओं को 20-20 हजार की दो जमानत और 20 हजार रुपये के मुचलके पर जमानत दी है। 

अदालत ने पूर्व में दोनों आरोपितों को भगोड़ा घोषित किया था और उनकी संपत्ति की कुर्की के आदेश दिए थे। इसके बाद सिद्दीकी और राजभर ने 19 जनवरी को अदालत में आत्मसमर्पण किया था और कोर्ट ने अंतरिम जमानत की अर्जी को खारिज करते हुए दोनों आरोपितों को जेल भेज दिया था।

भाजपा नेता दयाशंकर सिंह के परिवार की महिलाओं पर अभद्र टिप्पणी के आरोप में सिद्दीकी और राजभर के खिलाफ 22 जुलाई 2016 को राजधानी लखनऊ के हजरतगंज थाने में एफआईआर दर्ज हुई थी। सिंह की पत्नी स्वाति सिंह इस समय प्रदेश सरकार में मंत्री हैं।

एएसआई के आदेश पर लाल किला 31 जनवरी तक बंद, चप्पे-चप्पे पर तैनात अर्धसैनिक बल

Related Articles

Back to top button
E-Paper