नेशनल डॉक्टर्स डे पर बोले पीएम मोदी- हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर के बजट को किया दोगुना, देश में बढ़ा रहे एम्स की संख्या

कोरोना की भीषण लहर के बीच देश आज नेशनल डॉक्टर्स डे मना रहा है। इस अवसर पर अवसर पर देश के मेडिकल कम्यूनिटी को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि डॉक्टरों ने पिछले डेढ़ सालों में दिन-रात मेहनत करके एक मिसाल कायम की है। उन्होंने कहा कि डॉक्टरों ने ‘देवदूत’ बनकर कोरोना काल में लोगों की जान बचाई है।

पीएम मोदी ने कहा कि हमारी सरकार ने स्वास्थ्य सेवा को सर्वोच्च प्राथमिकता दी है। जब देश कोविड के खिलाफ एक बड़ी लड़ाई लड़ रहा है, डॉक्टरों ने लाखों लोगों की जान बचाई है, कई डॉक्टरों ने अपने अथक प्रयासों में अपना बलिदान भी दिया है, मैं उन सभी आत्माओं को श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं।

उन्होंने कहा कि देश में स्वास्थ्य सुविधाओं को पहले की तुलना में बेहतर बनाया जा रहा है। आज देश का मेडिकल इन्फ्रास्ट्रक्चर बनाया जा रहा है। पीएम मोदी ने कहा कि इस साल हेल्थ सेक्टर के लिए बजट का Allocation दोगुने से भी ज्यादा यानि दो लाख करोड़ रुपये से भी अधिक किया गया. अब हम ऐसे क्षेत्रों में Health Infrastructure को मजबूत करने के लिए 50 हजार करोड़ रुपये की एक Credit Guarantee Scheme लेकर आए हैं, जहां स्वास्थ्य सुविधाओं की कमी है।

पीएम मोदी ने कहा कहा कि देश में एम्स की संख्या बढ़ाई जा रही है। 2014 तक जहां देश में केवल 6 एम्स थे, इन 7 सालों में 15 नए एम्स का काम शुरू हुआ है.मेडिकल कॉलेजेज़ की संख्या भी करीब डेढ़ गुना बढ़ी है। इसी का परिणाम है कि इतने कम समय में जहां अंडरग्रेजुएट सीट्स में डेढ़ गुने से ज्यादा की वृद्धि हुई है, पीजी सीट्स में 80 फीसदी इजाफा हुआ है।कोरोना से लड़ाई में योग ने काफी मदद की है।

उन्होंने कहा कि एक और अच्छी चीज हमने देखी है कि मेडिकल फ्रेटर्निटी के लोग, योग के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए बहुत आगे आए हैं। योग को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए जो काम आजादी के बाद पिछली शताब्दी में किया जाना चाहिए था, वो अब हो रहा है।पीएम ने कहा कि हमारी सरकार ने डॉक्टर्स के खिलाफ हिंसा को रोकने के लिए पिछले वर्ष ही कानून में कई कड़े प्रावधान किए। इसके साथ ही हम अपने कोविड वारियर्स के लिए फ्री इंश्योरेंस कवर स्कीम भी लेकर आए हैं।

Related Articles

Back to top button
E-Paper