ट्रेड यूनियनों की देशव्यापी हड़ताल आज, लगभग 25 करोड़ श्रमिक लेंगे हिस्सा

नई दिल्ली। केंद्र सरकार की नीतियों के विरोध में आज केंद्रीय ट्रेड यूनियनों ने देश व्यापी हड़ताल का आह्वान किया है। देश के लगभग 25 करोड़ श्रमिक इसमें भाग लेंगे। हड़ताल में दस केंद्रीय ट्रेड यूनियनें शामिल हो रही हैं। भारतीय मजदूर संघ और उसकी इकाइयां हड़ताल में नहीं शामिल होंगी।

आज की हड़ताल में देश के बिजली कर्मचारी संगठन और बैंक कर्मचारी संघ (एआईबीईए) ने भी राष्ट्रव्यापी आम हड़ताल में शामिल होने की घोषणा की है।

एआईबीईए ने मंगलवार को बयान में कहा कि लोकसभा ने हाल में संपन्न सत्र में पारित तीन नए श्रम कानून शुद्ध रूप से कॉरपोरेट जगत के हित में हैं। इस प्रक्रिया में 75 प्रतिशत श्रमिकों को श्रम कानूनों के दायरे से बाहर कर दिया गया है।

राष्ट्रव्यापी हड़ताल को देखते हुए यूपी की योगी सरकार ने अगले छह माह के लिए प्रदेश में हड़ताल पर पाबंदी लगा दी है। आज सुबह से ही लखनऊ स्थित सचिवालय, जवाहर भवन – इंदिरा भवन समेत प्रमुख कार्यालयों के पास पुलिस की तैनाती कर दी है।

आज की हड़ताल में इंटक, एटक, एचएमएस), सीटू, एआईयूटीयूसी, टीयूसीसी, सेल्फ-एम्प्लॉइड वुमेन्स एसोसिएशन, एआईसीसीटीयू, एलपीएफ और यूनाइटेड ट्रेड यूनियन कांग्रेस शामिल हैं।

Related Articles

Back to top button
E-Paper