आईएसओ प्रमाणित थाना बना नवाबगंज, कैबिनेट मंत्री ने SO को दिया प्रमाणपत्र

गोंडा। जिले के वजीरगंज थाने के बाद अब नवाबगंज थाना भी आईएसओ प्रमाणित थाना बन गया है। यह प्रमाण पत्र अंतरराष्ट्रीय मानकीकरण संस्था ने उच्च पारदर्शिता व मानकों के मूल्यांकों पर खरा उतरने पर नवाबगंज थाने को प्रदान किया है। प्रदेश के समाज कल्याण मंत्री रमापति शास्त्री ने थाना परिसर मे आयोजित समारोह में थानाध्यक्ष भानुप्रताप सिंह को आईएसओ प्रमाण पत्र प्रदान किया। इस मौके पर कैबिनेट मंत्री ने थाना परिसर मे आरक्षी आवास व विवेचना कक्ष का भी शिलान्यास किया।

उल्लेखनीय है कि जिले के अयोध्या बार्डर पर स्थित थाना नवाबगंज आदर्श थाना माना जाता है। बेहतर पुलिसिंग के लिए सतत प्रयत्नशील रहने वाले पुलिसकर्मियों के कार्यों का अंतर्राष्ट्रीय मानकीकरण संस्था (आईएसओ ) पिछले आठ महीने से थाने के कार्यों का मूल्याकंन कर रही थी। यह संस्था किसी भी संस्थान द्वारा किए गए कार्यों के प्रति पारदर्शिता व उच्च मानकीकरण के प्रति मूल्यांकन के आधार पर प्रमाण पत्र जारी करती है।

इस क्रम में थाना नवाबगंज अपराध पर त्वरित कार्रवाई, रिकार्डो के रखरखाव , कानून व्यवस्था को सजग बनाए रखने के उच्च मापदंडों के पालन करने पर खरा पाया गया। इस पर संस्था ने थाने को आईएसओ प्रमाण पत्र देने का फैसला किया। गुरुवार को थाना परिसर मे समारोह का आयोजन कर यह प्रमाण पत्र प्रदान किया गया। प्रदेश सरकार के समाज कल्याण मंत्री रमापति शास्त्री ने आईएसओ थाने का उदघाटन किया और देवीपाटन मंडल के डीआईजी डॉ. राकेश सिंह व पुलिस अधीक्षक शैलेश कुमार पांडेय की मौजूदगी में थानाध्यक्ष नवाबगंज भानुप्रताप सिंह को आईएसओ प्रमाण पत्र प्रदान किया।

नवाबगंज थाने को प्रमाण पत्र मिलने पर डीआईजी ने प्रसन्नता जताए हुए कर्तव्य एवं दायित्वों पर खरा उतरने के लिए थानाध्यक्ष व उनकी पूरी टीम की प्रशंसा की। डीआईजी ने पुलिसकर्मियों को और बेहतर कार्य करने के लिए प्रेरित किया। नवाबगंज थाना अब मंडल का दूसरा आईएसओ थाना बन गया है। इसके पहले वजीरगंज थाने को भी आईएसओ प्रमाण पत्र मिल चुका है। इस मौके पर अपर पुलिस अधीक्षक महेंद्र कुमार, क्षेत्राधिकारी तरबगंज महावीर सिंह समेत बड़ी संख्या मे स्थानीय नागरिक मौजूद रहे।

Related Articles

Back to top button
E-Paper