NCP को इस राज्य में लगा बड़ा झटका, 17 पार्षद हुए बीजेपी में शामिल

NCP

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) को राजस्थान में बड़ा झटका लगा है। जहां टोंक जिले के निवाई से स्थानीय नगरपालिका चुनाव जीतने वाले 17 एनसीपी के पार्षद बीजेपी में शामिल हो गए हैं। वहीं अब एक सीट बढ़ने से बीजेपी की जीत 25 सीटों पर हो गई है। गुरुवार को राज्य में 90 सीटों के लिए हुए स्थानीय चुनावों में सत्तारूढ़ कांग्रेस 19 सीटों तक ही सीमित रही।

स्थानीय नगरपालिका बोर्ड चुनाव सत्तारूढ़ कांग्रेस के साथ-साथ बीजेपी के लिए भी एक प्रतिष्ठा का मुद्दा बन गया है। दोनों पार्टियां अधिकतम सीटों पर अपने बोर्ड बनाने के लिए कड़ी मशक्कत कर रही हैं। राज्य की 90 सीटों पर हुए स्थानीय चुनावों में बीजेपी ने 24 सीटें जीतीं, वहीं कांग्रेस को निर्दलीय उम्मीदवारों के समर्थन की उम्मीद है, जो बाकी सीटों पर असली किंगमेकर की भूमिका में उभरे हैं।

चौरीचौरा कांड के बाद दिग्विजयनाथ ने छोड़ दी थी गांधीवादी राह, फिर हिन्‍दू महासभा के साथ थे जुड़े

कांग्रेस के राजस्थान प्रभारी अजय माकन ने कहा कि पार्टी लगभग 52 सीटों पर अपना बोर्ड बनाएगी, जबकि बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पुनिया ने उनके दावे पर सवाल उठा दिया, क्योंकि बीजेपी ने 24 सीटें जीतीं, इसलिए कांग्रेस 52 सीटों पर अपने बोर्ड कैसे बना सकती थी।

राजनीतिक सूत्रों ने पुष्टि की कि कांग्रेस और बीजेपी दोनों ही अपने बोर्ड बनाने के लिए 90 में से कम से कम 45 इकाइयों में अतिरिक्त प्रयास कर रहे हैं। इस बीच पार्षदों को एक साथ रखा जा रहा है, जहां चेयरपर्सन के मतदान के लिए उन्हें 7 फरवरी तक रहना होगा। 90 में से बीजेपी और कांग्रेस कम से कम छह सीटों पर समान संख्या में हैं और इसलिए क्रॉस वोटिंग का खतरा है। यही वजह है कि दोनों पार्टियों ने क्रॉस वोटिंग को रोकने के लिए अपने उम्मीदवारों को एक साथ रखा है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper