कोरोना वैक्सीन के लिए अब बुजुर्गों की बारी, 1 मार्च से 60 साल से अधिक उम्र के लोगों को लगेगा टीका

नई दिल्‍ली। वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण को जड़ से मिटाने के लिए स्वास्थ्य विभाग प्रतिबद्ध है। इसको लेकर जिले में टीकाकरण महाअभियान की शुरुआत की गयी है।

कोरोना

प्रथम चरण में स्वास्थ्य कर्मियों तथा दूसरे चरण में फ्रंटलाईन वर्करों को टीका लगाया जा रहा है। अब विभाग की ओर से तीसरे चरण को शुरू करने की तैयारी की जा रही है। इसको लेकर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से निर्देश भी दिया गया है। एक मार्च से 60 वर्ष से अधिक आयु के लोगों और 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों (जो गंभीर बिमारी से ग्रसित हैं) का सरकारी अस्पतालों में मुफ्त टीकाकरण किया जाएगा। वहीं निजी अस्पतालों में भी टीकाकरण की शुरुआत होगी।

निजी अस्पतालों में टीकाकरण के लिए शुल्क देना होगा। हालाँकि अभी शुल्क का निर्धारण नहीं किया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में बुधवार को यह निर्णय लिया गया।

माइक्रो प्लानिंग कर लाभुकों की सूची तैयार

टीकाकरण के लिए माइक्रो प्लानिंग कर लाभुकों की सूची तैयार की जाएगी।

सभी पंजीकृत लोगों को तय समय की सूचना उनके मोबाइल पर भेजी जायेगी। योग्य लाभार्थियों के टीकाकरण का ध्यान रखा जाएगा। राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक मनोज कुमार ने जिलाधिकारी को पत्र के माध्यम से आवश्यक निर्देश भी दिया है।

पत्र में कहा गया है कि कोविड 19 टीकाकरण के संचालन की रणनीति के तहत अगली ले प्राथमिकता समूह के अंतर्गत बुजुर्ग और ऐसे लोगों को शामिल करना है, जो किसी गंभीर रोग से ग्रसित हैं। उम्र सीमा में किया गया बदलाव: पहले 50 साल से कम उम्र के उन सभी लोगों को प्राथमिकता की सूची में रखा गया था, जो किसी गंभीर बीमारी से ग्रस्त हैं।

इस संबंध में आधिकारिक आंकड़े नहीं होने और डॉक्टर की फर्जी रिपोर्ट लगा देने की आशंकाओं को देखते हुए इस प्राथमिकता सूची को 45 से 60 साल की उम्र वालों के लिए सीमित कर दिया गया है।

स्वास्थ्य मंत्रालय तय करेगा टीके की कीमत

टीकाकरण अभियान में सरकारी के साथ-साथ निजी क्षेत्र को भी शामिल किया जाएगा। निजी सेंटर पर टीके की कीमत केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय तय करेगा। इसकी घोषणा एक-दो दिन में की जाएगी। यह तय है कि सरकार थोक में वैक्सीन खरीदकर सरकारी और निजी दोनों केंद्रों पर उपलब्ध कराएगी। इससे निश्चित तौर पर निजी केंद्रों पर भी टीके की कीमत कम ही रहेगी।

कोविड-19 पोर्टल पर करना होगा रजिस्ट्रेशन

सिविल सर्जन सीएस डॉ. माधवेश्वर झा ने बताया कि वैक्सीन लगाने के लिए बुजुर्गों को पहले कोविन प्लेटफार्म पर पंजीकरण कराना होगा। इसमें उन्हें अपनी जानकारी देने के साथ-साथ यह भी बताना होगा कि किस वैक्सीन सेंटर पर वे टीका लगाना चाहते हैं। बाद में वैक्सीन सेंटर पर उन्हें अपना पहचान पत्र दिखाना होगा। इसके लिए आधार, पासपोर्ट, मतदाता पहचान पत्र समेत कई विकल्प दिए जाएंगे। अगले एक-दो दिन में कोविन पर पंजीकरण की सुविधा शुरू कर दी जाएगी।

Related Articles

Back to top button
E-Paper