UP सचिवालय में महिलाकर्मी से छेड़छाड़ के मामले में 12 दिन बाद अधिकारी गिरफ्तार, वीडियो हुआ था वायरल

उत्तर प्रदेश सरकार के अल्पसंख्यक कल्याण विभाग के यहां स्थित कार्यालय में सेक्शन प्रभारी इच्छाराम यादव को एकमहिलाकर्मी से छेड़छाड़, जोर जबरदस्दी करने, सार्वजनिक स्थल पर अश्लील हरकतें करने और धमकाने के मामले में लखनऊ पुलिस ने हिरासत में लिया है।

छेड़छाड़

पीड़ित महिला द्वारा इस मामले में आरोपी की हरकतों का एक वीडियो बुधवार को सोशल मीडिया पर डालने के बाद पुलिस ने इस पर संज्ञान लेते हुये आरोपी इच्छाराम को कल देर रात गिरफ्तार किया है। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार पीड़ित महिला ने गत 29 अक्टूबर को ही लखनऊ स्थित हुसैनगंज पुलिस थाने में इस आशय की एफआईआर दर्ज करा दी थी। एफआईआर पर अब तक कोई कार्रवाई नहीं होने के बाद आरेापी द्वारा पीड़िता के साथ कार्यालय परिसर में ही फिर से जोर जबरदस्ती किये जाने पर उसने इसका वीडियाे बनाकर सोशल मीडिया पर डाल दिया।

वेबीनार में पं. मालवीय की फोटो हटाकर लगाई अल्लामा इकबाल की तस्वीर, हुआ विवाद

इसमें आरोपी पीड़िता को जबरन उसके साथ चलने को मजबूर करता दिख रहा है। एफआईआर में दर्ज मामले के तथ्यों के अनुसार शिकायतकर्ता ने बताया है कि आरोपी सेक्शन इंचार्ज के पद पर कार्यरत है। जबकि उसी विभाग में पीड़िता स्वयं संविदाकर्मी है और आरोपी 2018 से उसके साथ अभद्र व्यवहार करते हुये उसकी बात न मानने पर नौकरी से निकालने और बदनाम करने की धमकी भी दे रहा है। पुलिस ने उसकी शिकायत पर भारतीय दंड संहिता की धारा 354 (महिला के साथ छेड़छाड़ करने के आशय से मर्यादा भंग करना), धारा 294 (सार्वजनिक स्थल पर अश्लीलता करने) और धारा 506 (धमकी देने) के तहत मामला दर्ज कर लिया था।

इस मामले में विलंब से गिरफ्तारी किये जाने के बारे में पुलिस की ओर से आधिकारिक प्रतिक्रिया नहीं मिल पायी है। एफआईआर के बाद भी आरोपी की हरकतें जारी रहने पर पीड़िता द्वारा इसका वीडियो सोशल मीडिया पर डाले जाने के बाद पुलिस ने बुधवार रात को इच्छाराम को हिरासत में लिया है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper