महाशिवरात्रि पर्व पर 28 घण्टे में करीब 1 लाख दर्शनार्थी करेंगे नि:शुल्क दर्शन

महाशिवरात्रि

उज्जैन। पूर्व के वर्षो में महाशिवरात्रि पर्व पर करीब 2 लाख श्रद्धालु दर्शन करने पहुंचते थे। चूंकि कोरोना काल है और सामाजिक दूरी बनाकर दर्शनार्थियों को महाकाल मंदिर में दर्शन करवाए जाना है। ऐसे में इस वर्ष महाकालेश्वर मंदिर प्रबंध समिति करीब 1 लाख दर्शनार्थियों को ही दर्शन करवा पाएगी। सबकुछ ठीक रहने पर 98 हजार पंजीयन ऑन लाइन होंगे।

महाकालेश्वर मंदिर में इस वर्ष महाशिवरात्रि पर्व पर ऑन लाइन पंजीयन के बाद ही दर्शन करवाने की व्यवस्था महाकालेश्वर मंदिर प्रंबंध समिति ने की है। इसके लिए ऑनलाइन दर्शन हेतु देशभर में कहीं से भी श्रद्धालु अपना पंजीयन करवा सकेंगे। पंजीयन करवाने पर श्रद्धालु को तारीख और समय दिया जाएगा। उस अनुसार श्रद्धालु को मंदिर में संबंधित प्रवेश स्थान पर पहुंचना होगा। वहां सामाजिक दूरी का पालन करते हुए श्रद्धालु कतार में लगेगा और करीब आधा घण्टा में ही दर्शन करके बाहर आ जाएगा।

इस प्रकार बनाई गई है रणनीति

ऑनलाइन पंजीयन और पंजीयन पश्चात श्रद्धालु के मंदिर तक आने,दर्शन करके बाहर जाने के लिए जो रणनीति बनाई गई है,वह इसप्रकार है-

* महाशिवरात्रि पर्व के दिन प्रात: 6 बजे से अगले दिन प्रात: 10 बजे तक कुल 28 घण्टे तक सतत दर्शन करवाए जाएंगे।

* 2-2 घण्टे के 14 स्लाट बनाए जाएंगे। प्रत्येक स्लाट में 7-7 हजार श्रद्धालुओं को दर्शन के लिए समय और तारीख आवंटित की जाएगी। इसप्रकार 28 घण्टे में कुल 98 हजार श्रद्धालु ऑनलाइन पंजीयन करवाकर नि:शुल्क दर्शन कर सकेंगे। शेष 2 हजार वे लोग होंगे जो कथित रूप से वीआयपी आदि रहेंगे और वीआयपी द्वार से अंदर पहुंचेंगे।

* अगली सुबह प्रात: 10 बजे के बाद दर्शन नहीं होंगे,क्योंकि सेहरा श्रृंगार आदि के समय मंदिर प्रशासन हर वर्ष पूरे मंदिर में कफ्र्यू की तर्ज पर सन्नाटा बिखेर देता है और केवल वीआयपी ही अंदर रहते हैं।

यहां बिगड़ेगी व्यवस्था

मंदिर प्रबंध समिति उक्त व्यवस्था बनाने के बाद इस नतीजे पर पहुंची है कि यदि पंजीकृत श्रद्धालु तय तारीख और समय पर नहीं आया तो अगले स्लाट में भेजे जानेवाले 7 हजार श्रद्धालुओं के साथ उन्हें भेज पाना सामाजिक दूरी का पालन करवाने के चलते असंभव होगा। यदि भेजा गया तो सामाजिक दूरी का पालन नहीं हो पाएगा। यदि कड़ाई की गई तो विरोध उपजेगा। इसका हल कलेक्टर-एसपी क्या निकालते हैं,यह आगामी दिनों में सामने आएगा।

Related Articles

Back to top button
E-Paper