वन टू वन : चली योगी की चाबुक तो भागे माफिया और गुंडे

Vishwavarta one to one

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने अपनी नई टीम गठित करने के बाद विश्ववार्ता समाचार पत्र समूह से पहली बार बातचीत की। इस खास बातचीत में उन्होंने गांव, गरीब और किसान के उत्थान से लेकर अपनी सरकार और संगठन के एजेंडे को जहां प्रमुखता से सामने रखा, वहीं पिछले 15 वर्षों में रहीं सपा और बसपा राज की खामियों को गिनाया। वे कहते हैं कि प्रदेश की जनता ने  विरोधी दलों की सरकारों को देखा है। विरोधी दलों की सरकार में भ्रष्टाचार, लूट खसोट का माहौल था। हर काम के रेट तय थे।

जो पैसे देता था, उसी का काम होता था। जबकि योगी सरकार में सुशासन का राज है। भ्रष्टाचार पर लगाम है। कानून व्यवस्था चुस्त-दुरुस्त है। गुंडे, माफियाओं पर कार्रवाई की हिम्मत योगी सरकार ने दिखाई है। ऐसा साहसी कार्य कोई सरकार नहीं कर सकी। यही वजह है कि गुंडे, अपराधी और माफिया योगी सरकार के चाबुक के चलते यूपी से बाहर भाग चुके हैं। वे बड़ी साफगोई से कहते हैं भाजपा की राजनीति मिशन है, व्यापार नहीं। पेश है स्वतंत्र देव सिंह से विश्ववार्ता ग्रुप के राज्य ब्यूरो प्रमुख गोलेश स्वामी की बातचीत के प्रमुख अंश…

उत्तर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह से विश्ववार्ता समाचार पत्र समूह की खास बातचीत –

Q-1. आपको और आपकी नई टीम को बधाई। आपका भविष्य का क्या लक्ष्य है। खासतौर से जब इस पद पर माधव प्रसाद त्रिपाठी, कल्याण सिंह, राजेंद्र कुमार गुप्ता, कलराज मिश्र और राजनाथ सिंह जैसे दिग्गज राजनेता रहे हैं। इनमें हरेक राजनेता की अपनी अलग छवि और विशेषता थी। आप अपनी कैसी छवि और पहचान बनाना पसंद करेंगे?

धन्यवाद! पंडित दीन दयाल उपाध्याय का सपना था-लक्ष्य अंत्योदय, प्रण अंत्योदय और पथ अंत्योदय। पंडित जी के इसी सपने को पूरा करना मेरा उद्देश्य है। संगठन का कार्यकर्ता मेरे लिए  देवतुल्य है, इसलिए कार्यकर्ता आधारित संगठन खड़ा करना ही मुख्य उद्देश्य है। यूपी में अब तक संगठन में बूथ समिति,  बूथ प्रभारी, सेक्टर अध्यक्ष, सेक्टर प्रभारी, मंडल समिति,  मंडल प्रभारी, जिला व क्षेत्र सभी स्तर की रचना पूरी हो चुकी है। बाकी रचना भी जल्द पूरी कर ली जाएगी। संगठन की संरचना निचले स्तर कार्यकर्ता से शुरू होती है। प्रशिक्षण के जरिए कार्यकर्ताओं का विकास होता है और संगठन के कार्यक्रमों से कार्यकर्ता मजबूत होकर उभरता है। यही कार्यकर्ता आगे चलकर प्रदेश और देश की राजनीति में पहुंचता है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन के मौके पर प्रदेश भाजपा ने पूरे राज्य में 14 सितंबर से लेकर 21 सितंबर तक सेवा सप्ताह मनाया। इस दौरान स्वच्छता अभियान, विकलांगजनों को ट्राइसाइकिल आदि उपकरण वितरण,  सेवा बस्तियों में फल वितरण, रक्तदान, प्लाज्मा दान और वृक्षारोपण जैसे सेवा कार्य किए। पंडित जी के जन्मदिन पर उनके व्यक्तित्व और कृतित्व को लेकर हर जिले में आत्मचिंतन सेमिनार की गई। प्रधानमंत्री के आत्मनिर्भर अभियान के तहत लाभार्थियों का सम्मान होगा।

कोरोना काल में भी कार्यकर्ताओं ने गांव, गरीब की सेवा की। प्रवासी मजदूरों को भी भोजन-राशन दिया। गांधी जी की जयंती पर स्वच्छता अभियान चलाया। इस तरह कार्यक्रमों की तैयारियां, कार्यकर्ताओं के विकास और निर्णय की प्रक्रिया बराबर चलती रहती है। कहने का तात्पर्य यह है कि अन्य पार्टियों में नेताओं के अंदर आत्मा बसती है, लेकिन भाजपा अन्य पार्टियों की तरह नहीं है। भाजपा में कार्यकर्ताओं के अंदर आत्मा बसती है।

Q-2. आप उत्तर प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष हैं। इसी प्रदेश से राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, वाराणसी के सांसद के नाते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह जैसे दिग्गज नेता हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जैसी हस्ती हैं। इनके होने से आपकी नजर में यूपी को क्या लाभ मिल रहा है?

केंद्र और राज्य की सरकारों में अच्छा समन्वय है। पहली बार केंद्र और राज्य दोनों में भाजपा की सरकारें हैं। मोदी जी और योगी जी मिलकर यूपी को संवारने का काम कर रहे हैं। मोदी सरकार आने के बाद गरीबी रेखा के नीचे के लोगों के कच्चे मकान पक्के बन गए हैं। शौचालय बन गए हैं। गैस कनेक्शन मिला है। सभी गांवों को बिजली कनेक्शन मिला है।

नई शिक्षा नीति बनी है। नई शिक्षा नीति रोजगार देने का भी काम करेगी। किसान सम्मान योजना सहित गांव, गरीबों के उत्थान की अनेक योजनाएं शुरू हुई हैं। आदिवासी, गिरिवासी, वनवासी, दलितों, वंचितों के कल्याण के लिए काम किया जा रहा है। भाजपा की यही पहचान है। नौजवानों को रोजगार मिल रहा है। उद्योगों में अव्वल है। सड़कें दुरुस्त हैं। विकास की गंगा बह रही है। कानून व्यवस्था चुस्त-दुरुस्त है। लोगों ने सपा-बसपा का राज देखा है। उनके समय में लूट-खसोट थी और भ्रष्टाचार भी था।

Q-3. कोरोना काल में वर्चुअल मीटिंग्स अच्छी बात है। लेकिन, जिस तरह अस्पतालों की व्यवस्था और कानून व्यवस्था को लेकर खबरें आ रही हैं, विपक्ष इनको लेकर सवाल उठा रहा है। संगठन के प्रदेश अध्यक्ष के नाते आप क्या योगी सरकार की परफार्मेंस से संतुष्ट हैं?       

कोरोना जैसी विश्वव्यापी महामारी की चुनौती को भी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अवसर में बदला है। राज्य के विकास के लिए अनेक अहम फैसले करके उन्हें लागू किया है। नौजवानों को रोजगार के लिए कदम उठाए हैं। योगी जी की सरकार ने जितना काम किया है, उतना किसी सरकार में नहीं हुआ। पिछली सरकार में तो जितना बजट पास होता था, सारा सैफई चला जाता था। प्रदेश की जनता ने पिछले 15 साल में विपक्ष की सरकारों को देखा है। विपक्ष के शासन में कानून व्यवस्था नाम की कोई चीज नहीं थी।

कोई मुस्लिम किसी व्यक्ति को पीट देता था तो थाने में रिपोर्ट तक दर्ज नहीं होती थी। भले ही वह सपा का कार्यकर्ता क्यों न हो। भाजपा के शासन में कानून का राज है। मुस्लिम हो या किसी भी जाति, धर्म का व्यक्ति सबको बिना किसी भेदभाव के न्याय के साथ-साथ आवास सहित सभी योजनाओं का लाभ दिया जा रहा है।

सपा शासन में भ्रष्टाचार था। सपा -बसपा के समय में हर काम के रेट तय थे। जो पैसे देता था, उसी का काम होता था। आम आदमी भयभीत था। जबकि योगी सरकार में सुशासन है। सरकार की चाबुक के चलते गुंडे माफिया प्रदेश छोड़कर भाग गए है। जो हैं उन्हें नेस्तनाबूद किया जा रहा है।

Swatantra dev singh

सरकार और संगठन में समन्वय की क्या स्थिति है?

सरकार और संगठन दोनों मिलकर प्रदेश की जनता के हित में काम कर रहे हैं। दोनों का एक ही लक्ष्य है गांव, गरीब और किसान तक पहुंचना, उसकी सेवा करना। यही दायित्व है और यही कर्तव्य भी है।

Q-4. सरकार और संगठन में अनेक पद खाली हैं। अभी तक नियुक्तियां नहीं हो पाई हैं, जबकि आपकी सरकार के पास काफी कम समय बचा है। इसके क्या कारण हैं?

सरकार और संगठन ने 20 हजार कार्यकर्ताओं की नियुक्तियां की हैं। बाकी बचे पदों पर भी जल्द ही नियुक्तियां की जाएंगी। इन नियुक्तियों में पार्टी द्वारा अपने सभी कार्यकर्ताओं का ध्यान रखा जाएगा। विधानसभा के आम चुनाव के लिए काफी कम समय बचा है। क्या है आपकी चुनाव की रणनीति। पार्टी टिकट देने से पहले क्या कोई सर्वे कराने पर विचार कर रही है?

भाजपा की टीमें सभी तरह के चुनावों के लिए तैयार हैं। उप चुनाव के लिए टीम बना दी गई है। शिक्षक व स्नातक सीटों के चुनाव के लिए अलग टीम बनी है। त्रिस्तरीय पंचायत चुनावों के लिए अलग टीम है। हम चुनावों के हर मोर्चे के लिए तैयार हैं। जहां तक सर्वे का सवाल है, समय आने पर विचार किया जाएगा।

Q-5. कृषि बिल को लेकर विपक्ष केंद्र सरकार को घेर रहा है। इस बिल के बारे में आपकी क्या सोच है?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कृषि बिल लाकर एतिहासिक काम किया है। यह बिल कानून में बदलते ही किसानों की आय दोगुनी करने, उन्हें अनेक सुविधाएं देने तथा तमाम बंधनों से मुक्त कराने में फायदेमंद साबित होगा। इस कानून से किसानों का जीवन बदल जाएगा। आम आदमी मोदी जी के केंद्र में आने से खुशहाल महसूस कर रहा है और आगे भी वह खुशहाल रहेगा। इससे पहले भी मोदी जी के नेतृत्व वाली सरकार में एतिहासिक फैसले किए गए, जिनमें अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण, कश्मीर से धारा 370 और 35 ए की समाप्ति, तीन तलाक पर रोक के फैसले अहम हैं।

तीन तलाक पर रोक लगाकर मुस्लिम महिलाओं को न्याय दिलाया। इसके अलावा पाकिस्तान और अफगानिस्तान से आने वाले हिंदुओं को नारकीय जीवन से मुक्ति दिलाकर उनको जीने का हक व नागरिकता दी। इससे वे हिंदुस्तान में शान से अपना जीवन व्यतीत कर सकेंगे। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अयोध्या आकर भव्य राम मंदिर निर्माण की नींव रखी। संदेश साफ है कि मोदी है तो सब मुमकिन है। आम आदमी का विश्वास मोदी जी के प्रति है।

सांगठनिक क्षमता से पहुंचे प्रदेश अध्यक्ष की कुर्सी पर

मिर्जापुर के एक छोटे गांव में गरीब परिवार में 13 फरवरी, 1964 में जन्मे भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने की कर्मभूमि बुंदेलखंड रही है। वे पुलिस विभाग में तैनात अपने भाई श्रीपत सिंह के साथ कालपी आए। यहां राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की विचारधारा से प्रभावित होकर उससे जुड़े। वहां इंटर तक पढ़ाई की। फिर उरई के डीएवी कालेज से स्नातक किया। यहां छात्र जीवन में विद्यार्थी परिषद से जुड़े और छात्र संघ अध्यक्ष का चुनाव भी लड़ा। इसके बाद वे पत्रकार बने। पत्रकारिता के दौरान उस समय के बड़े भाजपा नेताओं के संपर्क में आए और पत्रकारिता छोड़कर भाजपा के कार्यकर्ता बन गए। उसके बाद उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा। वे भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष बने। भाजपा के पहले प्रदेश उपाध्यक्ष व बाद में प्रदेश महामंत्री जैसे प्रमुख पद पर रहे।

बुंदेलखंड कर्मभूमि होने के नाते से वर्ष-2004 में यहां से झांसी-जालौन-ललितपुर सीट से एमएलसी चुने गए। उन्होंने अटल जी के समय में युवा मोर्चा का अधिवेशन कराया। लोकसभा और विधानसभा चुनावों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और तत्कालीन अध्यक्ष अमित शाह की रैलियों में कार्यकर्ताओं की भीड़ जुटाई। बुंदेलखंड में भाजपा को जिताया।

उनके नजदीकी आचार्य पंडित राज कुमार त्रिपाठी बताते हैं कि स्वंतत्र देव सिंह की खासियत यह है कि वे कार्यकर्ताओं को नाम से जानते हैं और उन्हें जोडऩा जानते हैं। साथ ही कार्यकर्ताओं के लिए हर समय उपलब्ध रहते हैं। परिवहन मंत्री के रूप में भी उन्होंने योगी सरकार में अपनी पारी ईमानदारी से खेली। उनकी सांगठनिक क्षमता को देखकर ही उनको देश की सबसे बड़ी पार्टी और सबसे बड़े सूबे के प्रदेश अध्यक्ष की कमान सौंपी गई। एक खास बात यह भी है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह दोनों के होते सरकार और संगठन में अच्छा तालमेल है।

केंद्र और राज्य की सरकारों में अच्छा समन्वय है। पहली बार केंद्र और राज्य दोनों में भाजपा की सरकारें हैं। मोदी जी और योगी जी मिलकर यूपी को संवारने का काम कर रहे हैं। मोदी सरकार आने के बाद गरीबी की रेखा के नीचे के लोगों के कच्चे मकान पक्के बन गए हैं। शौचालय बन गए हैं। गैस कनेक्शन मिला है। सभी गांवों को बिजली कनेक्शन मिला है। नई शिक्षा नीति बनी है। नई शिक्षा नीति रोजगार देने का भी काम करेगी।

Related Articles

Back to top button
E-Paper