हाथरस की घटना के खिलाफ देश में आक्रोश, प्रदर्शन, लाठीचार्ज और गिरफ्तारियां

लखनऊ। हाथरस गैंगरेप के खिलाफ यूपी और दिल्ली समेत पुरे देश में प्रदर्शन हो रहे हैं। इसके साथ पुलिस – प्रशासन के तेवर भी सख्त हो गए हैं। बुधवार को लखनऊ और दिल्ली समेत कई जगहों पर प्रदर्शनकारियों पर पुलिस ने लाठीचार्य किया। बड़ी टाडा में गिरफ्तारियां भी हुई हैं। दिल्ली के इंडिया गेट पर बड़ी तादाद में जुटी महिलाओं और छात्र-छात्राओं को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी ने गैंगरेप और उसके बाद प्रशासन के रवैये पर सख्त प्रतिक्रिया जाहिर की है।

इंडिया गेट पर एनएसयूएआई, आइसा, और भीम आर्मी के सदस्यों ने जमकर प्रदर्शन किया। पुलिस प्रदर्शन कर रहे कर रहे छात्र-छात्राओं को गिरफ्तार करके मंदिर मार्ग थाने ले गई। इसी तरह यूपी भवन के सामने प्रदर्शन कर रहे लोगों को भी गिरफ्तार किया गया है।

जानकारी के मुताबिक़ दिल्ली पुलिस ने करीब 80 लोगों को हिरासत में लिया है। इनमें 44 महिलाएं भी शामिल हैं। इसी तरह इंडिया गेट पर कैंडिल लाइट प्रोटेस्ट के आह्वान पर पीड़िता के लिए न्याय की मांग करने वाले प्रदर्शनकारियों पर दिल्ली पुलिस ने सख्ती की और उन्हें हिरासत में लिया। दिल्ली पुलिस का कहना है कि प्रदर्शनकारियों के खिलाफ वाजिब धाराओं के तहत लीगल कार्रवाई की जा रही है।

लखनऊ में, प्रदर्शन, लाठीचार्ज

हाथरस गैंगरेप के खिलाफ आंदोलित कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने दो बार लाठीचार्ज किया। कई कार्यकर्ताओं को चोटें भी आई हैं। पुलिस ने डेढ़ दर्जन से ज्यादा कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार होने वालों में यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष कनिष्क पांडेय, अवनेश शुक्ला, लालू कन्नौजिया, राहुल अवस्थी, अजीत प्रताप सिंह, इमरान, खुर्शीद, आशीष मिश्रा, हसन मेंहदी, संदीप पाल, सुधांशु वाजपेयी, ज्ञानेश शुक्ला, आदित्य सिंह, मोहम्मद रज़ा शामिल हैं। इसी तरह प्रदर्शन कर रहे सपा कार्यकर्ताओं पर भी पुलिस ने बर्बरता पूर्वक लाठीचार्ज किया।

भीम आर्मी चीफ गिरफ्तार

भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद और भीम आर्मी दिल्ली के हेड हिमांशु वाल्मीकि को उत्तर प्रदेश पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। दोनों नेता पीड़ित परिवार से मिलने उनके गांव जा रहे थे। भीम आर्मी पीड़िता की मौत के बाद से ही आंदोलनरत है। भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं ने कल सफदरजंग अस्पताल के बाहर सड़क पर बैठकर धरना दिया था।

हाथरस की घटना को लेकर हरियाणा में भी उबाल है। हरियाणा के लगभग सभी जिलों में जनवादी महिला समिति, दलित अधिकार मंच, सेंटर ऑफ इंडियन ट्रेड यूनियन (सीटू) और अन्य जनसंगठनों ने प्रदर्शन कर यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ के पुतले फूंके।

 

Related Articles

Back to top button
E-Paper