अंबानी के घर के बाहर जिसकी कार में मिला था विस्फोटक, उसके मालिक का मिला शव

अंबानी

देश के सबसे अमीर उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के बाहर पिछले दिनों मिली संदिग्ध स्कॉर्पियो कार के मालिक का शव बरामद हुआ है। अंबानी के घर के बाहर मिली स्कॉर्पियो कार के मालिक ने इसकी चोरी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। कार मालिक मनसुख हिरन ने बताया था कि उन्होंने अपने वाहन की स्टीयरिंग जाम होने पर उसे 17 फरवरी को आइरोली मुलंद पुल के पास खड़ा कर दिया था। उस वक्त वह एक पारिवारिक कार्यक्रम में शामिल होने जा रहे थे। आज हिरेन की लाश मिलने के बाद पूरे मामला रहस्यमय नजर आने लगा है।

राहुल ने की महंगाई के खिलाफ आवाज उठाने की अपील, ‘स्पीकअप अंगेस्ट प्राइज राइज’ अभियान शुरू

25 फरवरी को अंबानी के घर के बाहर मिली थी कार

रिपोर्ट्स के मुताबिक, मनसुख हिरेन गुरुवार की रात से ही लापता थे। वह अपने घर से ऑटो पर सवार होकर निकले थे। उन्होंने अपने घरवालों से कहा था कि किसी साहब से मिलने जा रहे हैं। मनसुख की मौत के साथ ही पूरा मामला अब संदिग्ध और रहस्यमयी हो गया है। बता दें कि अंबानी के आवास एंटीलिया के पास 25 फरवरी की शाम एक संदिग्ध वाहन खड़ा पाया गया था। उसमें जिलेटिन की छड़ें रखी हुई थी। पुलिस ने बताया कि वाहन की नंबर प्लेट भी अंबानी की सुरक्षा में शामिल एक एसयूवी के समान ही थी। बाद में मनसुख हिरेन ने उसी स्कॉर्पियो को अपना बताया था।

मनसुख ने बताया था कैसे चोरी हुई थी कार

स्कॉर्पियो कार के मालिक मनसुख हिरेन ने पुलिस को बताया था कि उन्होंने अपने वाहन की स्टीयरिंग जाम होने पर उसे 17 फरवरी को आइरोली मुलंद पुल के पास खड़ा कर दिया था। हिरेन ने कहा था कि उस वक्त वह एक पारिवारिक कार्यक्रम में शामिल होने जा रहे थे। उन्होंने बताया, ‘अगले दिन, जब मैं अपना वाहन लाने गया तो वह वहां नहीं दिखा। इसके बाद मैं करीब चार घंटे तक उसे ढूंढा, तब मुझे इसके चोरी हो जाने की आशंका हुई, जिसके बाद मैंने विखरोली पुलिस थाने में एक शिकायत दर्ज कराई।’

मैंने हिरेन को सुरक्षा देने की मांग की थी’

मनसुख हिरेन की मौत के बाद महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि उन्होंने विधानसभा में यह बात उठाई थी कि मुंबई पुलिस का एक अधिकारी लगातार मनसुख हिरेन से फोन पर बात कर रहा था, और लगातार उनके संपर्क में था। फडणवीस ने कहा, ‘मैंने हाउस में कहा है कि इस मामले को NIA को भेजा जाए। मैंने मनसुख हिरेन को तुरंत सुरक्षा दिए जाने की मांग की थी और आशंका जाहिर की थी कि इनकी जान को खतरा हो सकता है। अभी अभी पता चला है कि अभी कुछ समय पहले उनकी डेड बॉडी मिली है।’

एनआईए को सौंपी जाए जांच: फडणवीस

देवेंद्र फडणवीस ने अब पूरे मामले को एनआईए को सौंपे जाने की मांग की है। उन्होंने कहा, ‘इससे यह पूरा प्रकरण बहुत ज्यादा रहस्यमयी हो रहा है। यह गंभीर हो रहा है। हमारी मांग है कि जिस प्रकार के तथ्य सामने आ रहे हैं और इसका टेरर एंगल भी बताया जा रहा है, इस पूरे प्रकरण को एनआईए को हैंडओवर किया जाए।

Related Articles

Back to top button
E-Paper