पंजाब में आप सरकार बनने के तुरंत बाद आउटसोर्सिंग और ठेके पर काम करने वाले सभी शिक्षकों को नियमित किया जाएगा: केजरीवाल

अमृतसर.  केजरीवाल ने गारंटी देते हुए बताया कि पंजाब में शिक्षकों को न्यूनतम वेतन भी नहीं मिलता है। यहां शिक्षकों को केवल 10 हजार रुपए महीना मिलता है। शिक्षकों ने उन्हें बताया कि 10 हजार रुपए की तनख्वाह तो अधिकतम है। कई शिक्षक तो ऐसे हैं, जो तीन हजार और पांच हजार रुपए महीने पर काम कर रहे हैं। 18-18 साल तक काम करने के बावजूद कोई शिक्षक आउटसोर्सिंग पर है, तो कोई कांट्रक्ट पर है। उन्होंने कहा कि पंजाब में हमारी सरकार बनने के तुरंत बाद आउटसोर्सिंग और ठेके पर काम करने वाले सभी शिक्षकों को नियमित किया जाएगा।

      ‘आप संयोजक ने तीसरी गांरटी देते हुए कहा कि राज्य में ट्रांसफर पॉलिसी में बहुत ही गड़बड़ है। उन्होंने कहा कि कल कुछ शिक्षक उनसे मिलने के लिए आए। उन्होंने कहा कि शिक्षकों की कमी है, तो कई शिक्षकों को दो ड्यूटी दे दी जाती है। एक जगह प्रभार दे देते हैं और दूसरी जगह अतिरिक्त प्रभार दे देते हैं। वे शिक्षक तीन दिन एक स्कूल में और तीन दिन दूसरे स्कूल में रहते हैं और इनके दोनों स्कूलों में 200 किलोमीटर का फासला है। ऐसे में कोई कैसे काम कर सकता है। यह ट्रांसफर पॉलिसी बदलनी है।  केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में हमने ट्रांसफर पॉलिसी को बदली। पंजाब में सरकार बनने के बाद आम आदमी पार्टी दिल्ली की तरह यहां भी शिक्षा के क्षेत्र में क्रांति लाएगी। दिल्ली की तरह ही पंजाब में भी ट्रांसफर पॉलिसी लागू की जाएगी। ट्रांसफर पॉलिसी पारदर्शी होगी और शिक्षकों को उनकी मन मुताबिक स्कूल दिया जाएगा।

       उन्होंने कहा कि चौथी गारंटी, पूरे देश की यह दुदर्शा है कि पढ़ाने के अलावा शिक्षकों से सारा काम कराते हैं। पढ़ाने के अलावा, उनसे बीएलओ का काम करवाते हैं। उनसे क्लर्क का काम करवाते हैं। कई विभागों में डाटा इंट्री का काम करने के लिए शिक्षकों को रखा गया है। शिक्षकों से जनगणना का काम करवाते हैं। दिल्ली में हमने आदेश पारित करके सारे काम वापस ले लिए। हमने कहा कि शिक्षक अब सिर्फ पढ़ाने का काम करेगा और इसके अलावा कोई काम नहीं करेगा। दिल्ली में कोई शिक्षक बीएलओ नहीं है। कोई शिक्षक जनगणना का काम नहीं करता है। हमने जैसे दिल्ली में किया है, वैसे ही पंजाब में भी शिक्षकों से नॉन टीचिंग का सारा काम वापस लिया जाएगा। उनसे कोई दूसरा काम नहीं कराया जाएगा।

    मुख्यमंत्री केजरीवाल ने पांचवीं गांरटी देते हुए कहा कि पंजाब में शिक्षकों रिक्त पदों की संख्या अधिक हैं। एक तरफ, शिक्षकों के रिक्त पद पड़े हैं, और दूसरी तरफ शिक्षक बेरोजगार घूम रहे हैं। हमारी जैसे ही सरकार बनती है, यह सभी रिक्त पद तत्काल भरे जाएंगे ताकि बच्चों को शिक्षक मिल सकें और शिक्षकों को रोजगार मिल सके। छठी गारंटी दिल्ली के अंदर शिक्षा के क्षेत्र में जो सुधार हुए, वह सभी शिक्षकों ने मिल कर की। जैसे दिल्ली के शिक्षक को हमने विदेशों और मैनेजमेंट इंस्टीट्यूट में भेजा, वैसे ही पंजाब के शिक्षकों को ट्रेनिंग करवाने के लिए विदेशों में भेजेंगे। सातवीं गारंटी अभी पंजाब में शिक्षकों समय से प्रमोशन नहीं मिलता है। यहां प्रमोशन की कोई पॉलिसी नहीं है। इसलिए हर आदमी को प्रमोशन लेने के लिए हाईकोर्ट जाना पड़ रहा है। यह बंद किया जाएगा और सबको समय पर प्रमोशन दिया जाएगा। आठवीं और अंतिम गांरटी सभी शिक्षकों और उसके परिवार के लोगों को कैशलेस मेडिकल का प्रबंध किया जाएगा। दिल्ली के अंदर भी हमने सभी शिक्षकों के लिए किया है और उनकी सरकार अगर पंजाब में भी बनती है तो शिक्षकों औ रउनके परिवार को कैशलेस मेडिकल की सुविधा का प्रबंध किया जाएगा।

Related Articles

Back to top button
E-Paper