प. बंगाल : माकपा-कांग्रेस के बंद का राज्य भर में असर, रात में ही एयरपोर्ट पर चले आए थे यात्री

कोलकाता। गुरुवार को सचिवालय घेराव के दौरान माकपा-कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर पुलिस लाठीचार्ज के खिलाफ शुक्रवार को आहूत 12 घंटे के बंद का सुबह से ही व्यापक असर देखने को मिल रहा है।

माकपा-कांग्रेस

राजधानी कोलकाता के साथ-साथ हावड़ा, हुगली, उत्तर और दक्षिण 24 परगना, पूर्व और पश्चिम मेदिनीपुर समेत राज्य के अन्य हिस्सों में माकपा व कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सड़क जाम कर विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया है। अधिकतर क्षेत्रों में गाड़ियों की आवाजाही बंद है। दुकानें व बाजार बंद नजर आ रहे हैं। हालांकि देर रात से ही महत्वपूर्ण रास्तों व चौराहों पर पुलिसकर्मियों की तैनाती कर दी गई थी लेकिन सुबह होते ही बड़ी संख्या में माकपा व कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने यातायात ठप कर दिया।

बेगूसराय के विधायक कुंदन कुमार बने एमएसएमई नेशनल बोर्ड के सदस्य, गडकरी ने कही ये बात

शुक्रवार सुबह 8:00 बजे के करीब जादवपुर में माकपा कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया जिसकी वजह से यातायात बंद करना पड़ा। उधर, हावड़ा के डोमजूर और उत्तरपाड़ा में सड़क जाम कर वाम मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने फुटबॉल खेलना शुरू किया है। पुलिस मूकदर्शक बनी हुई है। बहू बाजार इलाके में भी बंद समर्थकों ने रैलियां की है।

पश्चिम मेदिनीपुर में सुबह से ही सड़क अवरोध कर दिया गया लेकिन मौके पर पहुंची पुलिस ने कार्यकर्ताओं को समझा-बुझाकर रास्ते क्लियर करवाए हैं। कूचबिहार में बंद समर्थकों ने सरकारी बसें रोक दी। हालांकि यहां माकपा-कांग्रेस कार्यकर्ताओं के खिलाफ तृणमूल कार्यकर्ता भी सड़कों पर उतर गए थे। बंद समर्थकों ने जिन बसों को रोका था उन्हें पुलिस की मदद से निकाला गया। बारासात-चापाडाली मोड़ पर भी बंद समर्थकों ने बसें रोक दी। लेकटाउन के कालिंदी मोड़ पर भी बंद समर्थकों ने विरोध प्रदर्शन किया जिसकी वजह से सड़कें जाम हो गई हैं।

राजधानी कोलकाता में इक्की-दुक्की गाड़ियां चल रही हैं लेकिन आम दिनों की तुलना में वाहनों की संख्या बहुत कम है। बंद की वजह से संभावित यातायात जाम के मद्देनजर एयरपोर्ट पर देर रात से ही यात्रियों की भीड़ लग गई। जिन लोगों की फ्लाइट शाम को है वे भी वाहन नहीं चलने के डर से रात में ही पहुंच गए। माकपा और कांग्रेस के अलावा फुरफुरा शरीफ के पीरजादा अब्बास सिद्धकी की नवगठित पार्टी इंडियन सेकुलर फ्रंट ने भी बंद का समर्थन किया है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper