आईएमए के पूर्व अध्यक्ष और जाने-माने हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. के. के. अग्रवाल का कोरोना से निधन

देश के जाने-माने हृदय रोग विशेषज्ञों में शामिल पद्मश्री पुरस्कार विजेता डॉ. के.के. अग्रवाल का सोमवार को कोरोना संक्रमण से निधन हो गया. उन्होंने खुद 28 अप्रैल को कोविड पॉजिटिव होने की जानकारी दी थी. इसके बाद उनका नई दिल्ली स्थित एम्स में इलाज चल रहा था. बीते दिनों उनकी तबियत बिगड़ने के बाद उन्हें वेंटिलेटर्स के सपोर्ट पर रख गया था.

सोमवार को डॉ. के.के. अग्रवाल के परिवार ने एक बयान जारी कर उनके निधन की सूचना दी. अपने बयान में परिवार ने बताया, “काफी दुख के साथ सूचित किया जा रहा है कि डॉ. के.के. अग्रवाल का 17 मई को रात लगभग 11.30 बजे कोरोना से लंबी लड़ाई लड़ते हुए निधन हो गया. डॉक्टर बनने के बाद से उन्होंने अपना जीवन लोगों के कल्याण और स्वास्थ्य जागरूकता को लेकर समर्पित कर दिया था.” एम्स ने भी उनके निधन की पुष्टि की है.

डॉ. के.के. अग्रवाल हार्ट केयर फाउंडेशन के अलावा इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के अध्यक्ष भी रह चुके थे. साल 2010 में मेडिकल जगत में उनके योगदान के लिए पद्म श्री पुरस्कार से नवाजा गया था. डॉ. के.के. अग्रवाल कोरोना महामारी के दौरान भी लोगों को जागरुक करने में जुटे रहे. वे सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों को कोरोना महामारी और ब्लैक फंगस के बचाव और सावधानियों के बारे में बताते रहे थे.

खबरों के मुताबिक, डॉ. के.के. अग्रवाल ने कोविड-19 के दोनों टीके लगाए थे. इसके बावजूद वे कोरोना संक्रमण की चपेट में आ गए. उनकी पत्नी भी कोरोना संक्रमित बताई जा रही है, जो घर पर ही अपना इलाज करा रही हैं.

Related Articles

Back to top button
E-Paper