पाकिस्तान में हिन्दू समुदाय ने धूमधाम से मनाया दीपावली का पर्व

पाकिस्तान के कराची में हिन्दू समुदाय के लोगों ने दिवाली पर्व मनाया। इस दौरान उन लोगों ने कोरोनावायरस के रोकथाम के लिए जारी किए गए स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर का भी ख्याल रखा।

एक हिन्दू लड़की पूजा ने कहा कि यह पर्व दीयों, रोशनी और पटाखों का है। आप देख सकते हैं बच्चे ,जवान और बूढ़े सभी इस पर्व को मनाने में आनंद की अनुभूति करते हैं ।

उसने आगे कहा कि हम भी यहाँ इस पर्व को मनाने आए हैं। हम यहां विभिन्न चित्रकारी और कलाकृतियों को देखने आए हैं । मेरा मानना है कि खून से खेलने से कई गुना अच्छा है कि हम रंगों से खेलें। कराची के स्वामीनारायण मंदिर को भी रोशन किया गया था ।

एक महिला ने कहा कि हम लोग स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर को मानते हुए दीपावली मना रहे हैं। इस त्योहार में हम भगवान से यही कामना कर रहे हैं कि जल्द से जल्द इस महामारी से पूरी दुनिया को छुटकारा मिले।

ऐसी मान्यता है कि भगवान राम (भगवान विष्णु के सातवें अवतार) राक्षस रावण को मारने के बाद और 14 वर्ष का वनवास पूरा करने के पश्चात अयोध्या वापस लौटे थे। इसी खुशी को दीवाली पर्व  के रूप में मनाते हैं।

तब से देश और दुनिया के लोग इस पर्व को अपने घरों को सजा कर, एक दूसरे को उपहार देकर और भगवान से प्रार्थना करके मनाते हैं। यह अंधेरे पर उजाले की जीत, बुराई पर अच्छाई की जीत और अज्ञान पर ज्ञान की जीत का पर्व है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper