आज़मगढ़: दलित महिला से पुलिस की बदतमीजी से धरने पर बैठे पलिया कांग्रेस सदस्य, कहा- न्याय नहीं तो जारी रहेगा सत्याग्रह

आज़मगढ़ के रौनापार थाने के पलिया गांव में हुए पुलिसिया उत्पीड़न के खिलाफ रिक्शा स्टैंड पर कांग्रेस के प्रदेश संगठन सचिव अनिल यादव, प्रदेश सचिव संतोष कटाई, यूथ कांग्रेस जिला अध्यक्ष अमर बहादुर यादव, एनएसयूआई सचिव मंजीत यादव और विशाल दुबे उपवास सत्याग्रह पर हैं। 

गौरतलब है कि कांग्रेस पार्टी लगातार दोषी पुलिस अधिकारियों पर कार्यवाही और ग्रामीणों पर दर्ज फ़र्ज़ी मुकदमें की वापसी जैसी मांगों को लेकर विरोध कर हैं। उपवास पर बैठे प्रदेश संगठन सचिव अनिल यादव ने कहा कि पलिया के पीड़ितों को जबतक न्याय नहीं मिलेगा तबतक हमारा आंदोलन जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि आज़मगढ़ पुलिस अमला की मानसिकता अत्यंत घिनौनी है और दलित विरोधी है।
पुलिस अधिकारी की ओर से महिला के पास जाकर अश्लील बात करना कतई बर्दाश्त करने लायक नहीं है। उपवास स्थल से उन्होंने कहा कि यह लड़ाई अब दलित और वंचित समाज के स्वाभिमान की लड़ाई है। इसको हम मजबूती से लड़ेंगे और जीतेंगे। 

अनिल यादव ने कहा कि आज़मगढ़ पुलिस  लुटेरों के गिरोह में तब्दील हो गयी है जिसका काम लोगों की रक्षा करना नहीं है। हमारी मांग है कि दोषी पुलिस कर्मियों पर हो कार्यवाही और पूरे मामले की हो न्यायिक जांच हो।  

जिला अध्यक्ष प्रवीण सिंह ने बताया कि धरने के समर्थन में राष्ट्रीय सचिव प्रदीप नरवाल, दलित कांग्रेस के अध्यक्ष आलोक प्रसाद, रामसजीवन निर्मल आज़मगढ़ आएं हैं। प्रदेश उपाध्यक्ष विश्वविजय सिंह और प्रदेश महासचिव विश्वविजय सिंह लगातार आंदोलन की रणनीति बना रहे हैं। 

Related Articles

Back to top button
E-Paper