गलवान में मारे गए 35 चीनी सैनिकों के ‘कब्र’ की तस्वीरें आई सामने, देखें वायरल फोटो

वायरल तस्वीर में दिख रही मुख्य कब्र चीनी सेना की 69316 यूनिट

नई दिल्ली । गलवान घाटी में 15/16 जून की रात को चीनी सैनिकों के साथ हुए खूनी संघर्ष में 20 भारतीय जवानों के शहीद होने की औपचारिक जानकारी भारत ने दूसरे दिन ही दे दी थी। लेकिन चीनी की सेना ने आज तक इस घटना में अपने हताहत सैनिकों की संख्या नहीं बताई है। इसी वजह से पीएलए में तेजी से अंसतोष बढ़ा और अब ढाई माह बाद गलवान घाटी में मारे गए 35 चीनी सैनिकों के कब्र की तस्‍वीर वायरल हो गई है। इसमें कब्र पर लिखा है कि इस सैनिक की चीन-भारत सीमा रक्षा संघर्ष में जून 2020 में मौत हो गई थी।​ अमेरिकी खुफिया एजेंसी ने भी घटना के दूसरे दिन ही 35 चीनी सैनिकों के मारे जाने का दावा किया था।

गौरतलब है कि गलवान घाटी में 15 जून की शाम से शुरू हुई हाथापाई 16 जून की सुबह होने तक खूनी झड़प में बदल गई थी। रात भर में तीन दौर के खूनी संघर्ष के बाद तड़के 5 बजे के करीब दोनों सेनाओं के बीच शवों और घायल सैनिकों का आदान-प्रदान हुआ था। भारत की ओर से चीन को 5 सैन्य अधिकारियों समेत 26 सैनिकों के शव और 70 घायल सैनिक सौंपे गए थे, जिसकी फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी भी की गई थी। इसके बाद भी घटनास्थल के पास से चीन के हेलिकॉप्टर दूसरे दिन तक अपने घायल और मृत सैनिकों को लेकर गए।

ये भी पढ़ें- योगी सरकार ने जारी की अनलॉक 4 की गाइडलाइन्स, जानें क्या खुलेगा क्या रहेगा बंद

इस घटना के बाद चीन के इलाके चुशुल-मोल्दो में 22 जून को हुई लेफ्टिनेंट जनरल स्तर की वार्ता में चीन ने पहली बार गलवान घाटी में 15/16 की रात हुई हिंसक झड़प में अपने कमांडिंग ऑफिसर के मारे जाने की बात कबूली थी। घटना के बाद चीन का तर्क था कि वह तनाव को भड़काना नहीं चाहता है, इसलिए मृत सैनिकों की संख्‍या नहीं जारी करेगा। चीनी सेना के प्रवक्‍ता झांग शुइली ने अपने बयान में कहा था कि झड़प में दोनों ही पक्षों के लोग मारे गए हैं लेकिन उन्‍होंने अपने सैनिकों की संख्‍या नहीं बताई।

ये भी पढ़ें- देवरिया : कुख्यात अपराधी तार बाबू की एक करोड़ की सम्पत्ति कुर्क

उन्‍होंने कहा था कि चीन के राष्‍ट्रपति और सेना प्रमुख शी जिनपिंग की स्‍वीकृति के बाद ही सैनिकों की मौत के आंकड़े बताये जा सकते हैं। हालांकि चीन के इस रवैये से गलवान घाटी में जान गंवाने वाले चीनी सैनिकों के परिवार वालों और सेना में भी असंतोष बढ़ा लेकिन चीन ने आज तक मारे गए सैनिकों की संख्या का खुलासा आधिकारिक तौर पर नहीं किया है। चीन में बढ़ रहे असंतोष का ही नतीजा यह रहा कि अब उस जगह की तस्वीर वायरल हो गई, जहां गलवान में मारे गए चीनी सैनिकों के शव एक साथ दफन किये गए थे।

Related Articles

Back to top button
E-Paper