पीएम मोदी भी हुए सीएम योगी के फैन, इस वजह से की यूपी सरकार की तारीफ

लखनऊ। पीएम मोदी ने कोरोना के खिलाफ लड़ाई में योगी सरकार के उठाए कदमों की सराहना की है। बुधवार को उत्तर प्रदेश सहित 07 राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ संवाद के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार ने कोरोना नियंत्रण के सम्बन्ध में प्रशंसनीय कार्य किया है। प्रतिदिन डेढ़ लाख की रिकाॅर्ड टेस्टिंग व्यापक स्तर पर की जा रही है। यहां पर मृत्यु दर भी कम है। देश की सबसे बड़ी आबादी उत्तर प्रदेश में निवास करती है। इसके मद्देनजर इस राज्य की चुनौतियां भी अधिक हैं। कोरोना काल में उत्तर प्रदेश में सबसे अधिक श्रमिक वापस आए हैं, जिनके सम्बन्ध में सराहनीय कार्य किए गए हैं। यहां की जनता ने भी कोरोना के नियंत्रण में राज्य सरकार के साथ मिलकर प्रभावी भूमिका अदा की है।

पीएम मोदी

अब तक 3.02 लाख मरीज बेहतर इलाज के बाद हुए स्वस्थ

इस दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि राज्य में कोरोना के विरुद्ध प्रभावी और मजबूती से लड़ाई लड़ी जा रही है। वर्तमान में कुल सक्रिय मरीजों की संख्या 61,699 है, जबकि अब तक पूर्ण उपचारित मरीजों की संख्या 3,02,689 है। प्रत्येक जनपद में इंटीग्रेटेड कमाण्ड एवं कण्ट्रोल सेण्टर स्थापित कर प्रबन्धन की कार्यवाही संचालित की जा रही है। इसके जरिए होम आइसोलेशन तथा कोविड अस्पतालों में भर्ती सभी मरीजों से नियमित रूप से संवाद स्थापित किया जाता है।

70 हजार से अधिक निगरानी टीमों का किया गठन

मुख्यमंत्री ने कहा कि निरन्तर सर्विलांस के लिए प्रदेश में 70,000 से अधिक निगरानी टीमों का गठन किया गया, जिनके जरिए लक्षणयुक्त व्यक्तियों की पहचान कर उनकी टेस्टिंग सुनिश्चित की जाती है। निजी व सरकारी अस्पतालों तथा कार्यालयों में कोविड हेल्प डेस्क स्थापित किए गए हैं। प्रदेश में प्रतिदिन लगभग डेढ़ लाख टेस्टिंग की जा रही है, जिसमें से 50,000 टेस्टिंग आरटीपीसीआर के जरिए की जा रही है।

प्रदेश में 7,094 बेड पर आईसीयू की सुविधा उपलब्ध

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में अद्यतन सकल पाॅजिटिविटी दर 04 प्रतिशत है। प्रदेश में एल-1 के 571, एल-2 के 77 एवं एल-3 के 26 डेडिकेटेड कोविड अस्पताल संचालित हैं। इन अस्पतालों में एल-1 के 1,23,460 तथा एल-2 के 15,812 बेड्स उपलब्ध हैं। एल-3 के 12,490 बेड पर वेंटिलेटर की सुविधा उपलब्ध है। प्रदेश में कुल 7,094 बेड पर आईसीयू की सुविधा उपलब्ध है। प्रदेश में रिकवरी दर 81.87 प्रतिशत है।

जेई से मौतों के आंकड़े में काफी गिरावट

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड महामारी के दौरान इंसेफेलाइटिस व अन्य संचारी व वेक्टर जनित रोगों पर भी नियंत्रण राज्य सरकार द्वारा किया गया है। वर्ष 2014 में पूर्वी उत्तर प्रदेश में जेई से 549 मृत्यु हुई थीं, जो घटकर अब मात्र 07 रह गई।

मनरेगा में 95.87 लाख व्यक्तियों को दिया गया रोजगार

प्रदेश में आर्थिक गतिविधियां भी तेजी से बढ़ी हैं। अगस्त माह में राजस्व संग्रह बढ़ा है। एमएसएमई के तहत 8,18,114 इकाइयों में 51.78 लाख श्रमिक कार्यरत हैं। आत्मनिर्भर पैकेज के तहत 4.32 लाख इकाइयों को 10,437 करोड़ रुपये का ऋण स्वीकृत कर वितरण किया गया। आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार-स्वरोजगार सृजन अभियान के तहत 3.72 लाख नई एमएसएमई इकाइयों को 13,383 करोड़ रुपये का ऋण स्वीकृत किया गया। मनरेगा के तहत अब तक 95.87 लाख व्यक्तियों को रोजगार देते हुए 23.75 करोड़ मानव दिवस का सृजन करते हुए 4,874.67 करोड़ रुपये के मानदेय का भुगतान किया गया, जो देश में सर्वाधिक है।

कल्याण रोजगार अभियान में 6.45 करोड़ मानव दिवस सृजित

मुख्यमंत्री ने कहा कि गरीब कल्याण रोजगार अभियान के तहत 22 सितम्बर तक 6.45 करोड़ मानव दिवस सृजित किए गए हैं। आरोग्य सेतु एप उत्तर प्रदेश में सर्वाधिक 2.60 करोड़ डाउनलोड हुए हैं। राज्य सरकार द्वारा कोविड महामारी से सम्बन्धित डाटा के संक्षिप्त प्रबन्धन के लिए एकीकृत यूपी कोविड पोर्टल का विकास किया गया है, जिसके जरिए लोगों को टेस्ट रिजल्ट भी सुगमता से उपलब्ध कराए जा रहे हैं।

Related Articles

Back to top button
E-Paper