पीएम मोदी ने जिलाधिकारियों के साथ बैठक की, उन्हें कोरोना के खिलाफ जंग में फील्ड कमांडर बताया

पीएम नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को राज्यों और जिलों के अधिकारियों के साथ वर्चुअल मीटिंग की। मीटिंग में ग्रामीण इलाकों में कोरोना की रोकथाम के लिए जोर दिया गया। पीएम मोदी ने अधिकारियों से कहा कि वो अपने-अपने जिलों का ध्यान रखें। देश में स्थिति खुद ब खुद बेहतर हो जाएगी।

दोपहर 12 बजे हुई इस वर्चुअल बैठक में देश के 46 जिलों के जिलाधिकारी मौजूद रहे। इनमें कर्नाटक, एमपी, बिहार, असम, चंडीगढ़, तमिलनाडु, हिमाचल प्रदेश, दिल्ली और गोवा से जिलाधिकारी शामिल हुए। पीएम मोदी ने जिलाधिकारियों को कोरोना से जंग में फील्ड कमांडर बताया। उन्होंने जिलाधिकारियों को टेस्टिंग, ट्रैकिंग, कंटेंमेंट और वैक्सिनेशन का मंत्र दिया।

पीएम मोदी जिलाधाकारियों ने नए इनोवेशन की सूचना भेजने की भी अपील की। उन्होंने कहा, ‘जिन लोगों को आज बता करने का मौका नहीं मिला है। उनके पास भी बहुत कुछ होगा। मेरा आप सब से आग्रह है कि आप बिना संकोच आपको लगता है कि जो चीज आपने अच्छी की है, अच्छे ढंग से की है, वो मुझे जरूर भेजिए।’

पीएम मोदी की इस वर्चुअल मीटिंग का लाइव प्रसारण किया गया। हालांकि, इसको लेकर विपक्ष ने सवाल खड़े किए। दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने ट्विटर पर लिखा, ‘आज की मीटिंग में प्रधानमंत्री जी का वक्तव्य टीवी पर लाइव प्रसारित हुआ। पिछली बैठक में सीएम अरविंद केजरीवाल के लाइव प्रसारण पर आपत्ति की थी कि प्रोटोकॉल तोड़ा गया।’ उन्होंने सवालिया लहजे में लिखा कि “आज के प्रोटोकॉल में लाइव ब्रॉडकास्ट की इजाजत थी? कैसे पता चले कि कौन सी बैठक से लाइव प्रसारण हो सकता है, कौन सी में नहीं?”

Related Articles

Back to top button
E-Paper