दुनिया के सबसे सुरक्षित व मंहगे विमान में उड़ेंगे पीएम मोदी, यूएस से आया विशेष विमान

डेस्क । भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अब दुनिया के सबसे सुरक्षित और मंहगे विमान में उड़ेंगे। देश में जब करोड़ों शिक्षित युवा बेरोजगारों के लिए रोजी के लाले हों, किसान त्राहि-त्राहि कर रहा हो और अपने जंगल को बचाने के लिए लाखों आदिवासी सड़कों पर हों, ऐसे में प्रधानमंत्री के विशेष विमान पर इस देश के खजाने से 8458 करोड़ रुपये खर्च होने जा रहे हैं। पीएम मोदी के लिए यह यह विशेष विमान अमेरिका में तैयार हो रहा है।

उल्लेखनीय है की अभी तक अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प और इस्राइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू सबसे महंगे विमान में उड़ रहे हैं। लेकिन भारतीय प्रधानमंत्री के लिए अमेरिका में बनाया जा रहा विमान इस्राइली प्रधानमंत्री के विमान के मुकाबले चार गुना ज्यादा सुरक्षित और लग्जरी होगा। जानकारी के मुताबिक़ भारत सरकार ने एयर इंडिया को पीएम मोदी के लिए दो बोइंग 777-300 विमानों को कस्टमाइज हुआ है। इसे स्पेशल एक्स्ट्रा सेक्शन फ्लाइट (एसईएसएफ) या वीवीआईपी नाम दिया गया है। दो विमान की इस फ्लीट का पहला विमान पखवारे भर में भारत आने की संभावना है।

एक मशहूर आर्थिक पत्रिका में हाल ही में इस कस्टमाइज विमान की खूबियां प्रकाशित की गई थीं। पत्रिका के मुताबिक यह विमान अंदर से अभेद्य किले जैसा होगा और इसका अपना डिफेंस मिसाइल सिस्टम होगा। यह विमान दुश्मन के रडार सिस्टम की फ्रिक्वेंसी को ये एसपीएस सिस्टम जाम करने में सक्षम है। इसके अलावा इस पूरे एसपीएस में कम्युनिकेशन सिस्टम अत्य़ाधुनिक होगा। इसका आडियो और वीडियो सिस्टम हैक नहीं किया जा सकेगा।

इस ख़ास विमान का नाम एयर इंडिया -1 रखा गया है। यह विमान एयर इंडिया की निगरानी में अमेरिका में कस्टमाइज किए जा रहे हैं। भारत में आने के बाद इनका कमांड और कंट्रोल एयरफोर्स के पास होगा। बगैर ईंधन भरे यह विमान लगातार 17 घंटे तक उड़ाया जा सकेगा।

प्रधानमंत्री के लिए ये विशेष विमान को देश के खजाने से 8458 करोड़ रुपये में ऐसे समय खरीदे जा रहे हैं, जब देश कोरोना महामारी से जूझ रहा है। देश के करोड़ों बेरोजगार सड़कों पर हैं। देश के किसान अपनी जमींन बचाने के लिए आंदोलित हैं। इन विपरीत परिस्थितियों में यदि जनता की गाढ़ी कमाई सिर्फ ऐशोआराम और सुरक्षा के नाम पर लुटाना भारत के लोगों के प्रति अन्याय है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper