सियासत : नवरात्रि से ब्राह्मण जोड़ो अभियान शुरू करेगी बसपा, बैठकों का सिलसिला तेज

लखनऊ। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में अभी डेढ़ साल का वक्त है, लेकिन सियासी पार्टियों ने अभी से ही चुनावी चौसर पर गोटियां बिछानी शुरू कर दी है। इस कड़ी में बसपा ब्रामणों को लुभाने की रणनीति पर काम कर रही है। इसके लिए बसपा नवरात्रि से ब्राह्मण जोड़ो अभियान शुरू करेगी।

सोशल इंजीनियरिंग के सहारे सूबे की सत्ता में बहुमत की सरकार बना चुकी बसपा एक बार फिर ब्राह्मणों के सहारे मैदान मारने की रणनीति पर अमल कर रही है। बसपा सुप्रीमो मायावती ने ब्राह्मण जोड़ो अभियान की शुरुआत नवरात्रि से करने की योजना बनाई है। इस योजना के तहत पार्टी महासचिव सतीश चंद्र मिश्र लगातार बैठक कर रहे है। जिलेवार बैठकों का सिलसिला तेज किया जा रहा है।

जानकारी के मुताबिक़ पार्टी के पांच प्रमुख नेताओं की निगरानी में जिलों में टीम बनाई जा रही है। इस योजना को फलीभूत के लिये ब्राह्मण पदाधिकारियों जिम्मेदारी दी जा रही है। अब देखना यह होगा की बसपा की यह रणनीति सफल है या नही क्योकि कुछ वर्षों पूर्व भी बसपा ने इसी प्रकार की रणनीति अपनाई थी,जिसमें बसपा को कामयाबी भी मिली थी। उसके बाद बसपा ने ब्राह्मणों को दरकिनार कर दिया था।जिसका खामियाजा उन्हें आने चुनावो में भी चुकाना पड़ा था।

बदली हुई सियासी परिस्थितियों में बसपा एक बार फिर उसी फॉर्मूले पर अपनी चुनावी जमीन बनाने की कोशिश में जुट गयी है। सोशल मीडिया के इस दौर में जनता को अपने पक्ष में कर पाना और उसे वोट के रूप में तब्दील कर पाना किसी भी सियासी पार्टी के लिए बेहद मुश्किल साबित हो रहा है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper