गर्भावस्था में इन चीजों का भूलकर भी न करें इस्तेमाल, बच्चे पर पड़ सकता है असर

गर्भावस्था

गर्भावस्था के समय महिलाओं को अपना ख्याल रखना चाहिए। इस दौरान महिलाओं का वजन काफी बढ़ जाता है। वहीं उनके शरीर में कई तरह के बदलाव भी आने लगते हैं। ऐसे में गर्भावस्था का समय बहुत महत्वपूर्ण होता है क्योंकि इसमें बच्चे का शरीर विकसित होता है। इस बदलाव का असर बच्चे पर पड़ता है, ऐसे में बहुत जरूरी है कि प्रेगनेंसी में हर चीज का इस्तेमाल सोच समझकर किया जाए। तो आईए जानते हैं कि किन चीजों का इस्तेमाल प्रेगनेंसी के समय नहीं करना चाहिए-

अगर आप भी चाहती हैं लम्‍बे समय तक टिकी रहे आपकी लिपस्टिक, तो इन तरीकों का करें प्रयोग

दूर रहें एंटी एजिंग क्रीम से

चेहरे की सुंदरता को बढ़ाने का दावा करने वाले एंटी एजिंग और दाग-धब्बे हटाने वाली क्रीम का इस्तेमाल प्रेग्नेंसी के दौरान बिल्कुल भी ना करें। इस तरह की क्रीम में रेटिनोड्स नामक सामग्री मिलायी जाती है, जिसे त्वचा में विटामिन ए की कमी को पूरा करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। यह भ्रूण के लिए हानिकारक हो सकता है।

एक्ने क्रीम के इस्तेमाल से करें परहेज

प्रेगनेंसी के दौरान आपके चेहरे पर पिंपल्स हो गए हैं, तो उन्हें हटाने के लिए एक्ने क्रीम का इस्तेमाल ना करें अन्यथा इसकी वजह से आपके अजन्मे बच्चे पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है।

तेज खुशबू के इस्तेमाल से बचें

प्रेगनेंसी के समय तेज खुशबू वाले डिओडरेंट, परफ्यूम और बॉडी लोशन का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। इन्हें बनाने में कुछ ऐसे केमिकल्स का इस्तेमाल किया जाता है। 

हेयर रिमूविंग क्रीम भी नहीं सुरक्षित

गर्भावस्था के दौरान हेयर रिमूविंग क्रीम का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए, लेकिन इसे बनाने में कुछ मात्रा में थियोजिकॉलिक एसिड का इस्तेमाल किया जाता है, जो कि गर्भावस्था में हानिकारक साबित हो सकती है।

नेल केयर उत्पाद भी डालते हैं असर

प्रेगनेंसी के दौरान किसी भी तरह के नेल केयर प्रॉडक्ट का इस्तेमाल न करें। इसके अंदर मौजूद जहरीले पदार्थ भ्रूण को नुकसान पहुंचा सकते हैं। नेल पॉलिश को नाखून पर टिकाए रखने के लिए कुछ बेहद खुशबू वाले केमिकल का इस्तेमाल किया जाता है। साथ ही नेल पॉलिश को हटाने वाले थिनर का भी इस्तेमाल न करें।

गोरा होने वाली क्रीम

चेहरे और त्वचा को गोरा बनाने वाली क्रीम में हाइड्रोक्यूनोन नामक केमिकल का इस्तेमाल किया जाता है। यह शरीर के एंजाइम को नियंत्रित करके त्वचा को ब्लीच करती है। यह क्रीम 35 से 45 प्रतिशत तक शरीर के अंदर समा जाती है, जो कि बच्चे के पूर्ण विकास को बाधित करती है। गर्भावस्था के दौरान और बच्चे को दूध पिलाते समय इस क्रीम का इस्तेमाल करने से पूरी तरह से बचें।

Related Articles

Back to top button
E-Paper