साल 2020 में 68.33 लाख गर्भवती महिलाओं को मिला प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना का लाभ

उत्तर प्रदेश, बिहार, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, कर्नाटक में सबसे अधिक लाभार्थियों की संख्या

प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के तहत साल 2020 में देश में कुल 68.33 लाख गर्भवती महिलाओं को लाभ मिला। केन्द्रीय महिला व बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने गुरुवार को राज्यसभा में पूछे गए लिखित जवाब में बताया कि गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को लाभ पहुंचाने के लिए प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के तहत 68.33 लाख महिलाओं को लाभ दिया है। लिखित जवाब में उन्होंने बताया कि उत्तर-प्रदेश, बिहार, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, कर्नाटक सबसे ज्यादा लाभार्थी हैं।

क्या है प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना

गर्भावस्था, प्रसव और स्तनपान के दौरान महिलाओं को जागरूक करना और संस्थागत सेवा का लाभ लेने के लिए प्रेरित करने के मकसद से प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना की शुरुआत की । इस योजना के तहत गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिला व माताओं को 6000 की आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। यह सहायता राशि सीधे उनके खाते में जाती है। 2000 रुपए की तीन किश्तों में दी जाती है।

किसे मिलेगा प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना का लाभ

सभी गर्भवती महिलाएं एवं स्तनपान कराने वाली माताएं प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना का लाभ लेने के लिए पात्र मानी गई हैं। योजना का लाभ पाने के लिए जरूरी है कि महिला की उम्र 19 वर्ष से कम नहीं होनी चाहिए। हां, एक बात ध्यान करने वाली यह है कि सरकारी कर्मचारी, किसी अन्य कानून से लाभ पा रही प्राइवेट कर्मचारी या फिर पहले सभी किस्तें पा चुकी महिला को इसके लाभ से वंचित रहना होगा। सरकारी कर्मचारी की सेवा शर्तों में वेतन सहित मातृत्व अवकाश जैसे लाभ पहले से ही जुड़े होते हैं जबकि प्राइवेट संस्थान में काम करने वाली महिला अगर किसी अन्य कानून के तहत मातृत्व लाभ की सुविधा प्राप्त कर रही है तो वह भी इस योजना के तहत लाभ प्राप्त नहीं कर सकती है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper