बुंदेलखंड में सियासी जमीन तलाशने प्रियंका करेंगी महोबा में रैली

महोबा. उत्तर प्रदेश में कांग्रेस के खोए जनाधार को वापस लाने की कवायद में जुटी राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा  बुंदेलखंड के महोबा में रैली करने जा रही है जिसमें वह पार्टी के संकल्पों को तो दोहरायेंगी ही साथ ही प्रधानमंत्री के कांग्रेस पर परिवारवाद की राजनीति करने को लेकर लगाए गये आरोपों का भी सार्वजनिक रूप से जवाब देंगी।

            कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव प्रदीप नरवाल ने बुधवार को यहां यूनीवार्ता को बताया कि कांग्रेस महासचिव व उत्तर प्रदेश प्रभारी  का वीरों की धरती बुंदेलखंड के महोबा में कार्यक्रम तय किया  गया है। वह प्रतिज्ञा रैली कर यहां जनमानस से सीधे संवाद करेंगी। महोबा  मुख्यालय में कानपुर-सागर राष्ट्रीय राजमार्ग से जुड़े पठा रोड में स्थित  छत्रसाल स्टेडियम को उनकी जनसभा स्थल के लिए चयनित किया गया गया है। इस  रैली में बुंदेलखंड के झांसी व चित्रकूट धाम मंडल से दो लाख की भीड़ जुटाने  का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। प्रियंका गांधी की रैली में महिलाओं, किसानों व गरीब मजदूर वर्ग की भीड़ मुख्य रूप से जुटाने की जिम्मेदारी कांग्रेस के क्षेत्रीय पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं को सौपी गई है।

             प्रदीप नरवाल ने कहा कि सूबे के अति पिछड़े बुंदेलखंड क्षेत्र पर विशेष फोकस रख रहीं प्रियंका का यहां एक पखवारे के भीतर यह दूसरा बड़ा कार्यक्रम है। इसके पूर्व उन्होंने पिछले दिनों चित्रकूट में भगवान कामतानाथ के दरबार मे  माथा टेक कर रामघाट में आयोजित कांग्रेस के महिला संवाद कार्यक्रम में  शिरकत की थी। चुनाव के मद्देनजर प्रदेश में इन दिनों खासे सक्रिय 

प्रधानमंत्री  को घेरते हुए प्रियंका लगातार रैलियां करके उन्हें कड़ा जवाब दे रहीं हैं। वीरभूमि महोबा में  प्रधानंमत्री ने 19 नवम्बर को रैली की थी। इसके जवाब में ही कांग्रेस  द्वारा प्रियंका गांधी की रैली तय की गई है। उन्होंने यह भी बताया कि रैली  की सफलता के लिए कार्यकर्ताओ को दिशा निर्देशन के लिए छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल  और पंजाब के मुख्यमंत्री चरनजीत चन्नी भी महोबा पहुंच रहे हैं।

Related Articles

Back to top button
E-Paper