लखनऊ के रेलवे स्टेशनों पर अनाधिकृत व्यक्तियों के प्रवेश पर रोक, रेल रोको आन्दोलन बेअसर

रेलवे

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ स्थित चारबाग, लखनऊ जंक्शन, ऐशबाग, बादशाह नगर और गोमती नगर स्टेशनों पर रेल रोको आन्दोलन के दौरान अनाधिकृत व्यक्तियों के प्रवेश पर रोक लगा दी गई है। लखनऊ मंडल के रेलवे स्टेशनों पर रेल रोको आन्दोलन बेअसर रहा।

किसान यूनियन का रेल रोको कार्यक्रम गुरुवार को लखनऊ में पूरी तरह से बेअसर रहा । इसके साथ ही लखनऊ के आस-पास के जिलों में भी किसान आन्दोलन का कोई प्रभाव नहीं पड़ा। लखनऊ सहित प्रदेश के सभी प्रमुख रेलवे स्टेशनों पर जीआरपी के साथ आरपीएफ अलर्ट पर है। लखनऊ रेलवे के पुलिस अधीक्षक (एसपी) सौमित्र यादव ने चारबाग स्टेशन और लखनऊ जंक्शन का निरीक्षण कर व्यवस्था का जायजा लिया।

किसान नेताओं के रेल रोको कार्यक्रम को लेकर रेलवे ने एक स्पेशल कंट्रोल रूम बनाया है। कंट्रोल रूम में आरपीएफ के अलावा रेलवे परिचालन के अधिकारियों को तैनात किया गया है। जो पूरे रेल मंडल में हर गतिविधि पर नजर रख रहे हैं।

एसपी रेलवे सौमित्र यादव ने बताया कि जीआरपी और आरपीएफ की संयुक्त टीमें बनाई गई हैं। पुलिस के भी कई अधिकारियों और थानों से संपर्क किया गया है। चारबाग स्टेशन, लखनऊ जंक्शन, ऐशबाग, बादशाह नगर और गोमती नगर जैसे स्टेशनों पर किसी अनाधिकृत व्यक्ति के प्रवेश पर रोक लगा दी गई है।

उन्होंने बताया कि मोहनलालगंज, मलिहाबाद सहित सभी बाहरी छोटे स्टेशनों पर अतिरिक्त बल तैनात किए गए हैं। अब तक कहीं से भी ट्रेनों को रोके जाने की सूचना नहीं है। लखनऊ के आउटर पर भी निगरानी बढ़ा दी गई है।

फालतू घूम रहे लोगों से हो रही पूछताछ

रेलवे स्टेशनों पर यात्रियों को किसी भी तरह की असुविधा न हो इसका जीआरपी खास ख्‍याल रख रही है। रेलवे स्टेशनों पर सामान की चेकिंग के बाद यात्रियों को प्रवेश दिया जा रहा है। वहीं फालतू घूम रहे लोगों से पूछताछ भी की जा रही है। बिना प्‍लेटफार्म टिकट के स्‍टेशन पर इंट्री नहीं दी जा रही है।

एडीजी रेलवे ने बताया कि ट्रेनों का संचालन बाधित होने से आम आदमी को सबसे ज्यादा दिक्कतें होती हैं। इसलिए हमारी कोशिश है कि रेलवे काम करता रहे। इसके लिए जीआरपी, पुलिस और आरपीएफ को तैनात कर दिया गया है।

उन्होंने बताया कि रेलवे इस देश की अर्थव्यवस्था की रीढ़ है। इसलिए सभी से अनुरोध करता हूं कि रेलवे का संचालन बाधित न किया जाए। दरअसल, कृषि कानूनों को वापस लेने के लिए किसान यूनियन के नेता गुरुवार को उत्तर प्रदेश सहित देश भर में ट्रेनें रोकने की कोशिश कर रहे हैं। दूसरी ओर आंदोलन रत किसान नेता केंद्र सरकार से बातचीत भी कर रहे हैं। फिलहाल रेलवे ने किसान आंदोलन को देखते हुए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए हैं। ताकि यात्रियों को दिक्कतें न होने पाए।

Related Articles

Back to top button
E-Paper