राहुल गांधी समझते हैं, देश की जनता संविधान नहीं जानती: नितिन गडकरी

गुवाहाटी। कांग्रेस के राष्ट्रीय नेता राहुल गांधी समझते हैं कि देश की सामान्य जनता संविधान नहीं जानती। इसलिए लोकसभा से पारित कानून को एक राज्य की सरकार द्वारा रद्द करने की बातें कह रहे हैं। इस तरह की अद्भुत बातें करने के कारण ही वर्तमान में राहुल गांधी को कोई गंभीरता से नहीं लेता है।

ये बातें शुक्रवार को केंद्रीय मंत्री व भाजपा के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष नितिन गडकरी ने गुवाहाटी में भाजपा के प्रदेश मीडिया कोष के मुख्यालय में आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कही।

गडकरी ने आज दो चुनावी जनसभाओं को संबोधित करने के बाद गुवाहाटी में मीडिया को संबोधित करते हुए राहुल गांधी की जमकर आलोचना की। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सदैव वोट बैंक और तुष्टिकरण की राजनीति करते हुए देश की सुरक्षा की कभी भी चिंता नहीं की। गडकरी ने कहा कि सर्वांगीण विकास और देश की सुरक्षा करने वाली पार्टी भाजपा का यही नीति और लक्ष्य है, जबकि कांग्रेस का साम्प्रदायिकता और वोट बैंक की राजनीति करनी ही एकमेव एजेंडा है।

उन्होंने कहा, भाजपा राष्ट्र सुरक्षा और राष्ट्र एकता के लिए सभी समय अपनी सर्वोच्च प्राथमिकता में रखते हुए काम करती आ रही है। गत 05 वर्ष में भाजपा के शासनकाल में असम तथा पूर्वोत्तर में विकास की एक नयी तस्वीर उभरी है। प्रसंगवश में कहा कि ब्रह्मपुत्र के खखन की प्रक्रिया आरंभ हुआ है, जल परिवहन खंड के तहत रोरो और रो पेक्स सेवा, जोगीघोपा में करोड़ों रुपये की लागत से मल्टी मॉडल लॉजिस्टिक पार्क का निर्माण, कई नये बंदरगाहों की कल्पना की गयी है। उन्होंने कहा कि जो काम कांग्रेस शासन में लंबे समय से संभव नहीं हो पाया था, उस काम को भाजपा के 05 वर्षों के शासनकाल में संभव बनाया गया है।

उन्होंने कहा कि विकास की कड़ी में ब्रह्मपुत्र पर जोरहाट-माजुली को जोड़ने वाले पुल के निर्माण का कार्य आरंभ होने तथा अन्य 06 पुलों के निर्माण की बातें दोहरायी। उन्होंने कहा कि अब तक असम में 2014 से 2020 तक भाजपा सरकार ने 15,000 करोड़ रुपये से अधिक का काम पूरा कर दिया है, 40 हजार करोड़ रुपये का काम करने के लिए पूंजी मंजूर हुई है और 27,000 करोड़ रुपये काम काम का आर्डर मिला है।

मीडिया को संबोधित करते हुए गडकरी ने कहा कि असम में बांस अद्योग को विश्वस्तर पर पहुंचाने के लए विशेष प्रयास किये जा रहे हैं। बांस को आर्थिक क्षेत्र का आधार बनाने के लिए 1300 करोड़ रुपये की लागत से बांस अभियान प्रकल्प को हमने हाथ में लिया है।

अंत में केंद्रीय मंत्री ने कहा कि 2021 में पुनः असम में भाजपा नेतृत्व वाली सरकार बनेगी और असम को देश के पांच अग्रणी राज्यों की सूची में स्थापित करने के लिए हमारी पार्टी पूरा प्रयास करेगी। इस मौके पर असम प्रदेश भाजपा के मुख्य प्रवक्ता रूपम गोस्वामी, पूर्व उपाध्यक्ष प्रदीप ठाकुरिया, प्रवक्ता व आर्थिक कोष संयोजक डॉ देवोजित महंत, संवाद कोष के संयोजक देवान ध्रुवज्योति मरल आदि मौजूद थे।

Related Articles

Back to top button
E-Paper