रामपुर दुष्कर्म मामला : एसओ समेत पांच पुलिस कर्मी लाइन हाजिर

रामपुर। पटवाई थाने में तैनात सिपाही के ​दुष्कर्म की​ शिकार हुई पीड़ित महिला के जहर खाने के मामले में पुलिस महानिरीक्षक रमित शर्मा ने कार्रवाई करते हुए थाना प्रभारी समेत पांच पुलिस कर्मियों को लाइन हाजिर कर दिया है। दोषी पाये जाने पर इनके खिलाफ निलंबन की भी कार्रवाई हो सकती है।

पटवाई थाने के सिपाही अमित कुमार पर महिला ने तमंचे के बल पर दुष्कर्म करने का आरोप लगाया है। इतना हीं नहीं वीडियो बनाकर उसे धमकाया भी गया है। पीड़ित परिवार ने इस मामले में पुलिस अधीक्षक से गुहार लगाई थी।

एसपी ने सिपाही को निलंबित करते हुए उसके खिलाफ थाने में मुकदमा दर्ज करने का आदेश दिया था। पटवाई पुलिस ने मुकदमा तो दर्ज कर लिया लेकिन सिपाही की गिरफ्तारी को लेकर थाना पुलिस ने लापरवाही बरती। दो दिन तक आरोपित सिपाही को गिरफ्तार नहीं किया गया।

आरोप है कि पुलिस कर्मी पीड़ित परिवार को समझौते के लिए दबाव बनाते रहे। पीड़ित पुलिस के प्रताड़ना से आहत होकर जहर खा लिया। इसके बाद पुलिस ने मामले को गंभीरता से लिया और सिपाही को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

शनिवार को महिला का हालचाल लेने के लिए आईजी रमित शर्मा जिला अस्पताल पहुंचे और परिवार से बातचीत की। आईजी ने बताया कि चार पुलिस कर्मियों ने परिवार के घर जाकर समझौते का दबाव बनाया है। लापरवाही बरतने पर थाना प्रभारी समेत पांच पुलिस कर्मियों को लाइन हाजिर किया गया है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper