खान विभाग द्वारा 4234 करोड़ का रिकॉर्ड राजस्व राजकोष में जमा

राजस्थान में ख़ान विभाग ने छह जनवरी तक एक हजार करोड़ रुपए का अधिक राजस्व संग्रहित कर नया रेकार्ड स्थापित किया है।
खान विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ. सुबोध अग्रवाल ने बताया है कि विभाग द्वारा 6 जनवरी तक 4234 करोड़ रुपए से अधिक का राजस्व संग्रहित किया गया है। यह पूर्व के दो सालों की इसी अवधि से करीब करीब एक हजार करोड़ रुपए अधिक है। उन्होंने राजस्व संग्रहण में उल्लेखनीय उपलब्धि पर अधिकारियों की हौसला अफजाई की है।
डॉ. अग्रवाल ने बताया कि विभाग की उच्चस्तरीय नियमित मोनेटरिंग का ही परिणाम है कि प्रदेश में माइंस विभाग द्वारा राजस्व संग्रहण का नया रिकार्ड बनाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि आरएसएमईटी, एनएमईटी, डीएमढफटी की राशि को भी जोड़ने के बाद यह राशि बढ़कर 5170 करोड़ रुपए से भी अधिक हो जाती है।
डॉ. अग्रवाल ने बताया कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा समय समय पर की गई विभाग के कार्यों की समीक्षा के दौरान खोज खनन कार्य को गति देने और राजस्व बढ़ाने के निर्देश दिए जाते रहे हैं।
उन्होंने बताया कि कोविड पूर्व के वर्ष 2019-20 में इसी अवधि में 3141 करोड़ रुपए का राजस्व मिला था वहीं कोविड के बावजूद सकारात्मक प्रयासों से वर्ष 2020-21 में इसी अवधि में 3244 करोड़ का राजस्व संग्रहित हुआ। उन्होंने बताया कि विपरीत परिस्थितियों के बावजूद इस वित्तीय वर्ष में 6 जनवरी तक 4234 करोड़ 16 लाख रुपए का राजस्व जमा हुआ है जो
गत साल की इसी अवधि से 30 प्रतिशत अधिक है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper