बुरी नजर हो या कुंडली का दोष, बच्चा पढ़ाई में कमजोर है तो मोर पंख के ये उपाय याद रखें

हमारे आस-पास हर तरह की एनर्जी का वास है अगर पॉजिटिव एनर्जी हैं तो नैगेटिव भी। बहुत सारी चीजें ऐसी हैं जो नेगेटिविटी पर हावी हो जाती हैं इसलिए तो ज्योतिष शास्त्र में ऐसी चीजों को घर में रखने की सलाह दी जाती है ताकि नेगेटिव एनर्जी का नाश हो सके। उन्हीं में से एक है मोर पंख। हिंदू धर्म में मोर पंख को खास स्थान दिया जाता है। श्रीकृष्ण को मोर पंख अति प्रिय है और उनके सिर पर मोर पंख का श्रृंगार के रूप में हमेशा विराजमान ही रहता है। सिर्फ श्रीकृष्ण ही नहीं यह मां  माता सरस्वती, माता लक्ष्मी, इंद्रदेव, भगवान कार्तिकेय तथा श्री गणेश को भी अत्यंत प्रिय है इसलिए इसे हिंदू शास्त्र में बेहद शुभ माना गया है। ज्योतिष में मोरपंख को सभी नौ ग्रहों का प्रतिनिधि माना गया है। ज्योतिष शास्त्र के अलावा वास्तु शास्त्र में भी इसे खास स्थान दिया गया है। क्योंकि यह आपके घर के कई तरहों के वास्तुदोष को दूर करने का काम भी करता है। चलिए आज आपको उन्हीं के बारे में बताते हैं।

घर का वास्तुदोष

अगर घर में किसी भी तरह का वास्तु दोष हैं तो 8 मोर पंख लेकर इन्हें एक साथ नीचे से सफेद धागे से बांध दें और ओम सोमाय नम: मंत्र का जाप करें और इससे घर के सारे वास्तुदोष दूर होंगे।

मुख्य द्वार पर लगाएं मोरपंख

घर के मुख्य द्वार पर मोर पंख लगा हो तो किसी तरह की बुरी नजर और उर्जा घर में प्रवेश नहीं कर पाती। अगर आपको भय है कि आपके घर में बुरी नजर जल्दी लगती हैं तो मुख्य द्वार पर मोर पंख लगा लें।

बच्चे को लग जाए बुरी नजर तो…

आपने देखा होगा कि जब भी बच्चे की नजर उतारनी हो तो मोर पंख से उतारी जाती हैं इसलिए घर बच्चे को रात को डर लगता है तो उसके कमरे में मोर पंख किसी भी कोने में लगा दें या बच्चे के सिरहाने रख दें। चांदी के ताबीज में एक मोर पंख भरकर रखने से बच्चे को नजर नहीं लगती।

जिद्दी बच्चों के लिए उपाय

जो बच्चे स्वभाव से बहुत ज्यादा जिद्दी होते हैं उन्हें रोजाना मोर पंख से बने पंखे से हवा करें या अपने सीलिंग फैन पर ही मोर पंख चिपका दें।

एकाग्रता बढ़ाए

अगर बच्चा पढ़ाई में कमजोर है तो  मोर पंख एकाग्रता बढ़ाने में सहायता करता है इसलिए बच्चे इसे अपनी पुस्तक में रखते हैं।

कालसर्प दोष

बहुत से लोगों की कुंडली में कालसर्प दोष होता है। ऐसे लोगों को सदैव अपने साथ मोरपंख रखना चाहिए। मोर सर्प का शत्रु है, अतरू जिन लोगों की कुंडली में राहू बुरा असर दे रहा हो या कालसर्पदोष हो। वह अपने साथ मोरपंख रखें। 7 मोर पंख सोमवार रात को तकिए के खोल में डालकर उस तकिए का इस्तेमाल करें।

ग्रह दोष

ग्रह दोष है तो एक काले धागे के साथ तीन मोर पंख बांधें। सुपारी के कुछ टुकड़े लें और थोड़ा पानी छिडक़ते हुए ओम शनैश्चराय नम: मंत्र का 21 बार जाप करें। ऐसा करने से शनि के दोष से मुक्ति मिलती है।

सेहत के लिए भी फायदेमंद

अच्छी सेहत के लिए भी मोर के पंख जादू की तरह काम करते हैं। यह शरीर से जहर निकालने के लिए एक तरह से दवाई का काम करते हैं। वहीं अगर घर में लड़ाई -झगड़ा या क्लेश रहता है तो घर के लिविंग रूम में नृत्य करते हुए एक मोर की पेंटिंग लगाएं या मोर पंख का गुलदस्ता रखें।

दुश्मन को भी बनाएं मित्र

कोई व्यक्ति बहुत ज्यादा परेशान कर रहा हो तो किसी मंगलवार या शनिवार को मोर के पंख पर हनुमानजी की प्रतिमा के मस्तक के सिंदूर से एक मोरपंख पर शत्रु का नाम लिखें तथा घर के मंदिर में रात भर रखें। सुबह उठकर बिना नहाए-धोए तथा बिना किसी से बात किए बहते पानी में उस मोरपंख को बहा दें। ऐसा करने से बड़े से बड़ा शत्रु भी मित्र बन जाता है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper