कक्षा दो के बच्चे को प्रिंसिपल ने गोलगप्पा खाते हुए देखा तो स्कूल की छत से उल्टा लटकाया

अहरौरा नगर के डीह मोहाल स्थित सद्भावना शिक्षण संस्थान जूनियर हाईस्कूल में कक्षा दो के छात्र को बरामदे से बाहर लटकाने वाले प्रधानाचार्य को जेल भेज दिया गया। इंटरनेट मीडिया पर फोटो वायरल होने के बाद जिला प्रशासन हरकत में आया। डीएम प्रवीण कुमार लक्षकार के निर्देश और छात्र के पिता की तहरीर पर पर रात में ही प्रधानाचार्य के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया था।

नगर के बूढ़ा देई वार्ड निवासी रंजीत यादव का बेटा सोनू यादव (7) कुछ ही दूर स्थित सद्भावना शिक्षण संस्थान जूनियर हाईस्कूल में कक्षा दो का छात्र है। गुरुवार को दोपहर में छात्र सोनू यादव स्कूल परिसर के बाहर गोलगप्पा खाने के लिए चला गया था। जब वह लौटा तो स्कूल प्रबंधक व प्रधानाचार्य मनोज विश्वकर्मा इतना नाराज हो गए कि उसे स्कूल की पहली मंजिल पर स्थित बालकनी से नीचे लटका दिया। इससे बच्चा रोने लगा और डर गया। जब बच्चा घर पहुंचा तो अपने पिता रंजीत यादव से घटना की जानकारी दी।

नृत्य के माध्यम से बच्चों ने बताया पंचमहाभूतों का महत्व

रंजीत यादव ने बताया कि उनका बेटा गोलगप्पा खाने के लिए स्कूल से बाहर चला गया था। इसे लेकर सद्भावना शिक्षण संस्थान के प्रधानाचार्य नाराज हो गए और बेटे को बरामदे से बाहर लटका दिया था। इस घटना को लेकर बच्चा काफी सहमा हुआ है। कुछ ही देर बाद छात्र को बालकनी से लटकाने का फोटो इंटरनेट मीडिया पर वायरल हो गया तो हड़कंप मच गया। जिलाधिकारी प्रवीण कुमार लक्षकार ने इसका संज्ञान लेते हुए कार्रवाई का निर्देश दिया। पिता रंजीत यादव की तहरीर पर स्कूल संचालक व प्रधानाचार्य मनोज विश्वकर्मा के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया गया है। थानाध्यक्ष संजय कुमार सिंह ने बताया कि आरोपित प्रधानाचार्य के लिए खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के बाद गिरफ्तार करने के बाद शुक्रवार को जेल भेज दिया गया।

Related Articles

Back to top button
E-Paper