सात प्रमुख शहरों में घरों की बिक्री 23 फीसदी घटी

मौजूदा वित्त वर्ष में अप्रैल-जून तिमाही में देश के सात प्रमुख शहरों में घरों की बिक्री में 23 फीसदी की गिरावट आई है। इसके लिए कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर को प्रमुख वजह माना जा रहा है।

जेएलएल इंडिया की ताजा रिपोर्ट के मुताबिक, अप्रैल-जून की तिमाही में आवासीय संपत्तियों की 19,635 यूनिट बिकी, जो जनवरी-मार्च तिमाही में 25,583 यूनिट थी। हालांकि, पिछले साल अप्रैल-जून की तिमाही में 10,753 यूनिट ही बिकी थीं। यानी सालाना आधार पर देखें तो अप्रैल-जून तिमाही में घरों की बिक्री 83 प्रतिशत बढ़ी है।

जेएलएल इंडिया दिल्ली-एनसीआर, मुंबई, कोलकाता, चेन्नई, बेंगलुरु, हैदराबाद और पुणे में आवासीय संपत्तियों की बिक्री पर निगाह रखती है। मुंबई के तहत मुंबई शहर, मुंबई उपनगर, ठाणे और नवी मुंबई आता है।

तिमाही-दर-तिमाही आधार पर बेंगलुरु में घरों की बिक्री 47 प्रतिशत बढ़कर 3,500 यूनिट रही, जो पिछली तिमाही में 2,382 यूनिट थी। वहीं, चेन्नई में घरों की बिक्री 81 प्रतिशत घटकर 3,200 यूनिट की तुलना 600 यूनिट रह गई।

दिल्ली-एनसीआर में भी घरों की बिक्री 55 प्रतिशत घटकर 2,440 यूनिट रह गई। जनवरी-मार्च की तिमाही में यह आंकड़ा 5,448 यूनिट था।

हैदराबाद में घरों की बिक्री 3,709 यूनिट से घटकर 3,157 यूनिट रह गई। कोलकाता में आवासीय इकाइयों की बिक्री 56 प्रतिशत घटकर 1,320 यूनिट से 578 यूनिट रह गई।

मुंबई में घरों की बिक्री मामूली बढ़ोतरी के साथ 5,779 यूनिट की 5,821 यूनिट पहुंच गई। वहीं पुणे में घरों की बिक्री छह प्रतिशत घटकर 3,539 यूनिट रह गई है।

आंकड़ों के अनुसार अप्रैल-जून, 2020 के दौरान बेंगलुरु में आवासीय इकाइयों की बिक्री 1,977 इकाई, चेन्नई में 460 इकाई, दिल्ली-एनसीआर में 2,250 इकाई, हैदराबाद में 1,207 इकाई, कोलकाता में 481 इकाई, मुंबई में 3,527 इकाई और पुणे में 851 इकाई रहीं।

Related Articles

Back to top button
E-Paper