समाजवादी पार्टी ने मृतक व्यापारी परिवार को दी तीस लाख रूपये की आर्थिक मदद

गोरखपुर में हुए मनीष हत्याकांड में समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के ऐलान की अपेक्षा से अधिक सपा ने परिजनों को 30 लाख रुपये की आर्थिक मदद की। इस दौरान सपा विधायकों ने सरकार पर जमकर आरोप लगाये। कहा गया कि सपा अगर आर्थिक मदद का ऐलान न करती तो योगी सरकार 10 लाख रुपया देकर पीड़ित परिजनों की आवाज दबा देती.

समाजवादी पार्टी ने मृतक व्यापारी परिवार को दी तीस लाख रूपये की आर्थिक मदद

ये है मामला

बर्रा के रहने वाले युवा व्यापारी मनीष गुप्ता की हत्या गोरखपुर में पुलिसकर्मियों ने कर दी थी। मामला पुलिस से जुड़ा होने के चलते प्रदेश की राजनीति गरमा गई। कांग्रेस, सपा और प्रसपा सहित बसपा ने योगी सरकार पर तमाम तरह के आरोप लगाये। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव कानपुर आकर पीड़ित परिजनों से मुलाकात कर समाजवादी पार्टी ने 20 लाख रुपये की आर्थिक मदद का ऐलान किया था। 

इन विधायकों ने की मदद

सीसामऊ विधानसभा के विधायक इरफान सोलंकी और आर्यनगर के विधयाक अमिताभ बाजपेयी के साथ-साथ सपा के नगर अध्यक्ष डॉक्टर इमरान मृतक मनीष के घर पहुंचे। मनीष की पत्नी मीनाक्षी से मुलाकात कर हालचाल पूछे और पुलिस की कार्यवाही पर भी बातचीत हुई। उसके बाद विधायक इरफान सोलंकी ने मृतक मनीष की पत्नी मीनाक्षी को 10 लाख की चेक दी। वहीं आर्यनगर के विधयाक अमिताभ बाजपेयी ने म्रतक मनीष के पिता को 20 लाख रुपए की चेक सौंपी।

हत्यारोपियों की जल्द हो गिरफ्तारी

सपा विधायक अमिताभ बाजपेयी ने कहा कि कानपुर के युवा व्यापारी को गोरखपुर में छह पुलिसकर्मी हत्या कर देते हैं। इसके बाद मामले को दबाने का प्रयास किया जाता है। मामला जब मीडिया में आ गया और सपा ने दबाव बनाया तो हरकत में आई योगी सरकार ने 10 लाख रुपये की आर्थिक सहायता की जगह 40 लाख रुपया की आर्थिक सहायता परिजनों को दी। लेकिन अभी तक हत्यारोपी नहीं गिरफ्तार हुए, जिससे साफ होता है कि हत्यारोपियों को सरकार का संरक्षण प्राप्त है। विधायक इरफान सोलंकी ने मांग की कि जल्द ही हत्यारोपियों की गिरफ्तारी होनी चाहिये नहीं तो सबूतों के साथ खिलवाड़ किया जा सकता है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper