कोरोना के खिलाफ सेनीटाइजेशन बना बड़ा हथियार, यूपी में घटने लगे संक्रमण के मामले

यूपी की योगी सरकार ने कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए गांवों में सेनीटाइजेशन और साफ-सफाई अभियान चला रही है। प्रत्येक शनिवार और रविवार को चलने वाले इस विशेष सेनीटाइजेशन अभियान के तहत अब तक सभी 18 मंडलों के 12,016 वार्डों में सेनीटाइजेशन कराया गया है। इसमें 26 हजार से अधिक कंटेनमेंट जोन शामिल हैं, जहां कई बार विशेष सफाई और सेनीटाइजेशन का अभियान चलाया गया है। इन कंटेनमेंट जोन में 50 हजार से अधिक कोरोना संक्रमित पाए गए हैं।

कोरोना संक्रमण के साथ-साथ डेंगू व मलेरिया से बचाव के लिए 6,295 वार्डों में एंटी लार्वा का छिड़काव भी कराया गया है। इस विशेष सेनीटाइजेशन अभियान के दौरान 2,65,426 किलोग्राम सोडियम हाइपोक्लो राइड, ब्लीइचिंग पाउडर, चूना व मैलाथियान डस्ट का इस्तेमाल किया गया है।

मुख्यममंत्री के निर्देश पर सेनीटाइजेशन अभियान के साथ लोगों को जागरूक भी किया जा रहा है। इसके लिए कूड़ा उठाने वाली गाडि़यों पर पब्लिक एड्रेस सिस्टंम के माध्यम से लोगों को कोरोना संक्रमण से बचाव और शुरुआती लक्षण दिखने पर इलाज के बारे में बताया जा रहा है।

सेनिटाइजेशन और जन-जागरुकता अभियान का असर भी दिखने लगा है। गांवों में संक्रमण फैलने की रफ्तार धीरी पड़ी है। मंगलवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक, बीते 24 घंटे में यूपी में कोरोना संक्रमण के 8,737 मामले ही सामने आए हैं। इसके साथ कुल सक्रिय मामलों की संख्या घटकर लगभग 1 लाख 36 हजार हो गई है। इस बीच सरकार ने कोरोना जांच की रफ्तार को भी बढ़ाया है। यूपी में रोजाना औसतन 2 लाख 79 हजार से ज्यादा टेस्टा किए जा रहे हैं।

Related Articles

Back to top button
E-Paper