पासपोर्ट सेवा के दूसरे चरण के लिए टीसीएस का चयन

टीसीएस मौजूदा सुविधाओं और प्रणालियों को अद्यतन करने के साथ ही ई-पासपोर्ट जारी करने में सक्षम बनाने के लिए अभिनव समाधान विकसित करेगा। इसके अलावा वह बायोमिट्रिक्स, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, एडवांस डेटा एनालिटिक्स, चैटबॉट्स, ऑटो-रिस्पॉन्स, प्राकृतिक भाषा प्रसंस्करण और क्लाउड जैसी तकनीकों का इस्तेमाल करके नागरिक अनुभव को और बढ़ाएगा।
टीसीएस के कारोबार इकाई प्रमुख तेज भाटला ने शुक्रवार को कहा, “डिजिटल भारत के निर्माण में टीसीएस महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन कर रही है। पिछले एक दशक में विदेश मंत्रालय के साथ हमारी साझेदारी नागरिक सेवाओं के लिए सार्वजनिक-निजी भागीदारी मील का पत्थर बन गई है। हमें पासपोर्ट सेवा कार्यक्रम के अगले चरण के लिए चुने जाने पर प्रसन्नता हो रही है। हम अपने प्रासंगिक ज्ञान और डिजिटल प्रौद्योगिकियों का इस्तेमाल करके नागरिक अनुभवों को बेहतर बनाने के लिए तत्पर हैं।”
उल्लेखनीय है कि वर्तमान में टीसीएस देश भर में पासपोर्ट सेवा केंद्र (पीएसके) संचालित कर रही है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper