राजनीति से सन्यास के बयान से पलटे वीरभद्र सिंह, बोले- भविष्य में छिपा है ये राज

वीरभद्र सिंह

शिमला: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और छह बार मुख्यमंत्री रहे वीरभद्र सिंह कुछ घंटे बाद ही राजनीति से सन्यास लेने के बयान से पलट गए हैं। सिंह ने कहा कि  मीडिया ने मेरे चुनाव न लड़ने के बारे में हल्के फुल्के व्यंग को गम्भीरता से ले लिया। मेरा चुनाव लड़ना या न लड़ना भविष्य के गर्व में छिपा है, जो सक्रिय राजनीति में है, उन्हें एक न एक दिन रिटायरमेंट लेना है यह एक सत्य है। परंतु कब लेना है यह प्रदेश की जनता और उस समय की राजनीतिक परिस्थितियां तय करेगी।’

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के लोगों ने मुझे हमेशा बहुत प्यार और मान सम्मान दिया है और छह बार प्रदेश का मुख्यमंत्री के रूप में सेवा करने का अवसर प्राप्त करवाया है। अतः राजनीति से सन्यास के विषय को मैं भविष्य की राजनीतिक गतिविधियों पर छोड़ता हूं। मैं कांग्रेस पार्टी की मजबूती के लिए पूरे जोश के साथ लोगों के बीच आ जा रहा हूं। इसलिए इस तथ्य को गंभीरता से न लिया जाए। जब तक मां भीमाकाली चाहेंगी प्रदेश की सेवा करता रहूंगा। इससे पहले आज दिन में वीरभद्र सिंह ने कहा था कि अब वे कोई चुनाव नहीं लड़ेंगे।

गाजीपुर बॉर्डर पर फिर जमा हुए किसान, आज सिसौली में महापंचायत का ऐलान

Related Articles

Back to top button
E-Paper